Bihar Berojgari Bhatta 2021: 12 वीं पास को सरकार दे रही है बेरोजगार भत्ता, ऐसे करें आवेदन

 Bihar Berojgari Bhatta 2021: मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना 2021. यदि आप 12वीं पास है, और आपके पास नौकरी नहीं है, तो आप बिहार सरकार की इस योजना का फायदा उठा सकते है. बिहार सरकार के द्वारा कक्षा 12वीं पास छात्रों को मिल रहा है.बेरोजगारी भत्ता और अधिक जानकारी के लिए पढ़ें पूरा लेख.

Bihar Berojgari Bhatta 2021

Bihar Berojgari Bhatta 2021

 बिहार सरकार के द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर 12वीं पास छात्रों को बेरोजगारी भत्ता देने की घोषणा की गई है. बिहार सरकार के द्वारा इस योजना को वर्ष 2016 में गांधी जयंती के दिन शुरू किया गया था. बिहार सरकार के द्वारा वे छात्र जो 12वीं पास कर चुके है, लेकिन किसी कारणवश उन्हें नौकरी नहीं प्राप्त हो रही है.ऐसे लोगों के लिए बेरोजगारी भत्ता योजना शुरू की है यदि आप 12वीं पास है, और आपके पास भी कोई नौकरी नहीं है, तो आपको भी मुख्यमंत्री  स्वयं सहायता भत्ता योजना के तहत आवेदन करना चाहिए.

 मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना.

 मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना के तहत छात्रों को इसमें शामिल करने की योजना बनाई गई है.जिन्होंने कक्षा 12वीं पास कर ली है, लेकिन अभी तक उनके पास कोई नौकरी नहीं है.इस योजना के तहत विद्यार्थियों को 2 साल तक के लिए हर महीने ₹1000 दिए जाएंगे.

 कब शुरू हुई मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना.

बिहार में स्वयं सहायता भत्ता योजना वर्ष 2016 में गांधी जयंती के मौके पर 2 अक्टूबर को शुरू की गई थी.इस योजना के तहत 20 से 25 वर्ष के उन बेरोजगार युवाओं को आर्थिक मदद देने की कवायद की गई है. जिन्हें 12वीं कक्षा पास करने के बाद भी कोई नौकरी नहीं मिल पाई है. बिहार सरकार की इस योजना के तहत बेरोजगार युवकों को सरकार की तरफ से प्रतिमाह ₹1000 दिए जाएंगे.

 मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना की पात्रता.

यदि आपने 12वीं कक्षा पास कर ली है और आपको अभी तक कोई भी नौकरी प्राप्त नहीं हुई है, तो आप मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना के तहत आवेदन कर सकते है,आइए हम आपको बताते है कि किन शर्तों को पूरा करते हुए आप इस योजना के लाभार्थी बन सकते है.

 कक्षा 12वीं पास करने वाले स्टूडेंट को बिहार का स्थाई निवासी होना चाहिए.बिहार निवासी होने के साथ-साथ छात्र को बिहार बोर्डसे ही 12वीं कक्षा पास होना चाहिए. अभ्यार्थी को 12वीं कक्षा के अलावा उत्तर शिक्षा प्राप्त नहीं किया हो यह भी इस आवेदन के लिए जरूरी है. योजना का लाभ लेने के लिए आवेदक की आयु 25 वर्ष से अधिक नहीं होनी चाहिए. इसके अलावा आवेदक को किसी भी प्रकार की सरकारी या गैर सरकारी मदद नहीं प्राप्त हो रही हो. आवेदक को किसी भी अन्य प्रकार के भरते नहीं मिल रहे हो,जैसे स्कॉलरशिप स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड शिक्षण या किसी अन्य प्रकार की सहायता.

 मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना के तहत आवेदन कैसे करें.

मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना के तहत आवेदन करने के लिए आपको ऑनलाइन आवेदन करना होगा. आवेदन के लिए आपको मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना की ऑफिशल वेबसाइट पर जाना होगा. यह ऑफिशियल वेबसाइट बिहार सरकार के द्वारा संचालित की जाती है. होम पेज खुलने के बाद आपको एक रजिस्ट्रेशन लिंक प्राप्त होगा. इस लिंक पर जाकर आप अपने रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर से आवेदन भर सकते है. आवेदन पूरी तरह मरने के बाद इसे फाइनल सबमिट कर दें.

जब आप आवेदन के लिए अपना पंजीकरण कराएं तो यूजर आईडी और पासवर्ड को सेव करके रख लें. ताकि भविष्य में आप समय-समय पर मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना का अपडेट स्टेटस जान सके. ऑनलाइन आवेदन करने के 60 दिनों के भीतर ही विद्यार्थियों को डीआरसीसी कार्यालय पहुंचकर अपने शैक्षिक दस्तावेजों को वेरीफाई करवा लेना चाहिए.

 क्या है मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना के उद्देश्य.

 कई बार बहुत अधिक पढ़ लिख लेने के बावजूद भी योग्य उम्मीदवारों को अच्छी नौकरी नहीं मिल पाती है, या फिर वह बेरोजगार होते है. बेरोजगारी युवाओं के मन में निराशा लेकर आती है,तथा आर्थिक रूप से उन्हें कमजोर भी बनाती है. किसी भी देश के भविष्य होते है इसी सोच को ध्यान में रखते हुए बिहार सरकार की तरफ से मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना शुरू की गई है. हम आपको बता दें कि इस योजना के तहत बिहार बोर्ड से पास होने वाले 12वीं कक्षा के छात्रों को इस योजना से जोड़ने की पहल की गई है.

छात्रों की आयु 20 से 25 वर्ष के बीच में होनी चाहिए तथा छात्र मूल रूप से बिहार का ही निवासी होना चाहिए,तभी उसे इस योजना का फायदा मिल पाएगा. बिहार सरकार युवाओं को आर्थिक रुप से कमजोर नहीं होने देना चाहती. इसीलिए वह इस योजना के तहत प्रति माह छात्रों को ₹1000 की आर्थिक मदद दे रही है हम आपको बता दें,कि यह आर्थिक मदद छात्रों को सीधे उनके बैंक अकाउंट में पहुंचाई जाएगी.

 यदि आप भी मुख्यमंत्री स्वयं सहायता भत्ता योजना से जुड़ना चाहते है तो आपके पास अपना आधार कार्ड बैंक अकाउंट कक्षा 12वीं पास का प्रमाण पत्र तथा अंक तालिका स्थाई निवास प्रमाण पत्र जाति प्रमाण पत्र पहचान पत्र इत्यादि होने चाहिए. तभी आप इस योजना के लाभार्थी बन पाएंगे.

और भी जानें..

Leave a Comment