ब्राह्मण में कौन कौन सी जाति आती हैं | Brahman Me Kon Kon Si Jati Aati Hai

ब्राह्मण में कौन कौन सी जाति आती हैं | Brahman Me Kon Kon Si Jati Aati Hai

प्राचीन समय से ही हमारा समाज चार वर्ण में बटा हुआ है. वर्ण व्यवस्था में सबसे शीर्ष स्थान ब्राह्मणों को दिया गया हैं क्यूंकि इनको विद्वान की उपाधि प्राप्त है. इसके बाद दूसरा स्थान वैश्य वर्ण को दिया गया है जिनका कर्म व्यावसायिक कार्य करना है. इसके बाद आते हैं क्षत्रीय जिनका उद्देशय समाज में योद्धा की भूमिका को निभाना है. अंत में आते हैं शूद्र जिनका कार्य साफ सफाई इत्यादि से संबंधित है. इन भिन्न वर्णों में तमाम तरह की जातियाँ शामिल हैं.

अधिक जाने: SC-ST में कौन कौन सी जाति आती है

ब्राह्मण में कौन कौन सी जाति आती हैं (Brahman Me Kon Kon Si Jati Aati Hai)

ब्राह्मण में कौन कौन सी जाति आती हैं | Brahman Me Kon Kon Si Jati Aati Hai

प्राचीन समय में हर वर्ण और जाति का व्यक्ति ब्राह्मण बनने की ख्वाहिश रखता था क्यूंकि ब्राह्मणों को समाज में सर्वोच्च स्थान प्राप्त था. ब्राम्हणों का मुख्य उद्देश्य वेदों और शास्त्रों का अध्ययन करना और समाज में धर्म और शिक्षा के कार्यों का आयोजन करवाना था. वर्तमान समय में वैसे तो कई लोगों ने ब्राह्मण द्वारा किए जाने वाले कार्यों को त्याग दिया है लेकिन फिर भी यह लोग स्वयं को ब्राह्मण ही कहते हैं. आज हम आपको अपने लेख से इस विषय पर विस्तार से जानकारी देने का प्रयास करेंगे कि कौन कौन सी जातियों को ब्राह्मण वर्ण के अन्तर्गत गिना जाता है. तो आप इस लेख को अंत तक ज़रूर पढ़ें.

अधिक जाने: जनरल में कौन कौन सी जाति आती है

ब्राह्मण वर्ण में आने वाले जाति और उपनाम

स्मृति-पुराणों में किए गए वर्णन के मुताबिक ब्राह्मणों को निम्न 8 प्रकार में वर्णित किया गया है:

  • मात्र
  • ब्राह्मण
  • श्रोत्रिय
  • अनुचान
  • भ्रूण
  • ऋषिकल्प
  • ऋषि
  • मुनि

ब्राह्मणों का पूरा इतिहास उनके उपनाम में छुपा हुआ है. और अगर बात करें ब्राह्मण शब्द के इतिहास की तो इस शब्द का सर्वप्रथम उपयोग अथर्वेद के उच्चारणकर्ता ऋषियों के लिए किया गया था. पहले ब्राह्मण शब्द का संबंध किसी जाति या समाज से नहीं था परंतु समाज के निर्माण के बाद सबसे अधिक विभाजन ब्राह्मणों में ही है. सरयूपारीण, कान्यकुब्ज, मैथिल, भार्गव, सनाढ्य इत्यादि तो सिर्फ कुछ ही उदहारण हैं लेकिन अगर आपको ब्राह्मणों के बारे में अधिक जानना हैं तो आपको उनके उपनाम पर भी ध्यान देने की जरूरत है. ब्राह्मणों के उपनाम अपने अंदर कई तरह की जानकारी समेटे हुए है.

अधिक जाने: अनुसूचित जनजाति में कौन-कौन सी जाति आती है

जो ब्राह्मण एक वेद का अध्ययन करता है उसको पाठक कहा गया है. दो वेदों को पढ़ने वाले ब्राह्मण को द्विवेदी कहा जाता है. ठीक इसी तरह तीन वेद का पाठ करने वाले ब्राह्मण को त्रिवेदी कहा गया है. चार वेदों को पढ़ने वाले चतुर्वेदी कहलाते हैं. शुक्ला उपनाम उन ब्राह्मणों के लिए इस्तेमाल होता हैं जिन्होंने शुक्ल यजुर्वेद को पढ़ा हो. वही जिस ब्राह्मण को चारो वेदों, पुराणों और उपनिषदों का ज्ञान हो उसको पंडित कहते हैं.

इसके अलावा भी निम्न उपनाम और जातियों को भी ब्राह्मण वर्ण के अंतर्गत गिना जाता है:

अधिक जाने: (ओबीसी) OBC में कौन-कौन सी जाति आती है 

  • गौतम
  • अग्निहोत्री
  • भारद्वाज
  • राव
  • रावल
  • देशमुख
  • बनर्जी
  • मुखर्जी
  • जोशी
  • शर्मा
  • भट्ट
  • विश्वकर्मा
  • झा
  • श्रीनिवास
  • मिश्रा
  • आपटे

यह भी जाने:

Leave a Comment