द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय: {Draupadi Murmu Biography in Hindi} caste, age, husband, Education, Political journey

(Draupadi murmu biography, Draupadi murmu in hindi, Draupadi murmu biography in hindi, Draupadi murmu daughter, Draupadi murmu president, Draupadi murmu family, Draupadi murmu religion, Draupadi murmu kaun hai,

Draupadi murmu biography in hindi, द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय: राष्ट्रपति बनने की रेस में सबसे आगे झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू का नाम सबसे आगे है। 18 जुलाई को मतदान होना है और उसमें द्रौपदी मुर्मू का नाम सबसे आगे है ऐसे में कयास यह लगाए जा रहे हैं कि द्रौपदी मुर्मू भारत की पहली आदिवासी राष्ट्र्पति बन सकती है। इसके अलावा वह प्रतिभा पाटिल के बर्फ दूसरी महिला राष्ट्रपति बन सकती है. चुनाव जीतने से वह 1 कदम दूर है। आपको बता दें कि विपक्ष की ओर से यशवंत सिन्हा राष्ट्रपति के उम्मीदवार बने हैं। द्रौपदी मुर्मू को जबसे राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया गया है तभी से लोग उनके बारे में इंटरनेट पर सर्च कर रहे हैं। इस लेख में हम जानेंगे, द्रौपदी मुर्मू कौन है, द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय, द्रौपदी मुर्मू in english आदि।

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय: {Draupadi Murmu Biography in Hindi} caste, age, husband, Education, Political journey

द्रौपदी मुर्मू कौन है (Draupadi murmu kaun hai)

द्रौपदी मुर्मू आदिवासी समुदाय से तालुक रखती है उन्हें NDA की तरफ से राष्ट्रपति का उम्मीदवार बनाया गया है। अगर वह जीतती हैं तो देश के सर्वोच्च पद पर आसीन होने वाली पहली आदिवासी राष्ट्रपति होंगी। द्रौपदी मुर्मू उड़ीसा की आदिवासी नेता है और वह झारखंड की गवर्नर रह चुकी हैं। द्रौपदी मुर्मू का जन्म ओडिशा के मयूरभंज जिले में 20 जून 1958 को हुआ था। उनके पिता का नाम बिरंची नारायण टुडू वह अपने समाज और गाँव के मुखिया थी। अर्थात द्रौपदी मुर्मू को राजनीति की शिक्षा बचपन से ही मिली है। NDA के द्वारा राष्ट्रपति उम्मीदवार बनाये जाने के बाद वह इंटरनेट पर काफी सर्च की जा रहीं हैं।

श्रीमती द्रौपदी मुर्मू का जीवन बेहद संघर्ष पूर्ण रहा है उनकी शादी श्याम चरण मुर्मू से हुई थी, जिनसे उनके 1 बेटी एवं 2 बेटे हैं। उनके दोनों बेटों का निधन हो चुका है जबकि पति की भी मृत्यु हो चुकी है। भौतिक संसार मे अपनों के साथ छूटने से द्रौपदी मुर्मू का जीवन बेहद कठिन रहा। अकेले होने के बावजूद उन्होंने कभी हार नहीं मानी और राजनीति में अपना परचम लहराया। अब वह महामहिम बनने की रेस में सबसे आगे हैं।

द्रौपदी मुर्मू का जीवन परिचय (Draupadi murmu biography)

नाम- द्रौपदी मुर्मू
जन्मस्थान-मयूरभंज,उड़ीसा
जन्मतिथि-20 जून,1958
पिता का नाम-बिरंची नारायण टुडू
माता नाम-किनगो टुडू
पति का नाम- श्याम चरण मुर्मू
बेटी- इतिश्री मुर्मू

द्रौपदी मुर्मू की शैक्षणिक योग्यता (draupadi murmu Educational qualification)

द्रौपदी मुर्मू बचपन से ही पढ़ने में काफी होनहार रही हैं। उनकी शुरुआत शिक्षा उनके गृह जिले से हुई है। स्नातक की पढ़ाई श्रीमती द्रौपदी मुर्मू ने भुवनेश्वर के रामादेवी महिला महाविद्यालय से की है। उन्होंने BA की डिग्री प्राप्त की। शुरुआत में उन्होंने अपने करियर की शुरुआत बतौर अध्यापिका बनकर की, वह ओडिशा गवर्मेंट में जूनियर असिस्टेंट के तौर पर रहीं। वह 4 साल तक इस पद पर कार्यरत रहीं। लेकिन जीवन मे कड़ें संघर्षो ने उन्हें राजनीति के पथ पर लाकर खड़ा कर दिया।

द्रौपदी मुर्मू का राजनैतिक सफर ( Draupadi murmu Political journey)

भाजपा के साथ द्रौपदी मुर्मू ने अपने राजनैतिक सफर की शुरुआत की थी। 1997 में रायरंगपुर में नगर पंचायत पार्षद के चुनाव में जीत दर्ज की। इसके बाद ओडिशा में भाजपा और बीजू जनता दल की गठबंधन की सरकार में वर्ष 2000 से 2002 तक वह वाणिज्य और परिवहन स्वतंत्र प्रभार मंत्री रहीं। ओडिशा की रायगंज से वह विधायक भी चुनीं गयी। साल 2015 में वह झारखंड की पहली महिला गवर्नर रहीं उनका कार्यकाल 2015 से 2021 तक रहा, और अब वह देश के सर्वोच्च पद पर आसीन होने वाली दूसरी महिला बन सकती हैं।

  • 1997 में रायरंगपुर नगर पंचायत में पार्षद बनी।
  • बाद में रायरंगपुर सलाहकार परिषद की उपाध्यक्ष बनी।
  • 2000 में वाणिज्य और परिवहन स्वतंत्र प्रभार मंत्री रही।
  • 2013 में वह पार्टी की ST मोर्चा की राष्ट्रीय कार्यकारी सदस्य रहीं।
  • 2002 से वह मत्स्य पालन और पश्च संसाधन विकास राज्य मंत्री रहीं।
  • भाजपा-बीजू गठबंधन की सरकार में वह विधायक रहीं।
  • 2015 से 2021 तक वह झारखंड की राज्यपाल रहीं। द्रौपदी मुर्मू का कार्यकाल 6 वर्ष का रहा।

द्रौपदी मुर्मू का परिवार | द्रौपदी मुर्मू family

द्रोपदी मुर्मू की शादी श्याम चरण मुर्मू से हुई थी। जिनसे उनकी 3 संतानें थी। जिसमें 2 बेटे एवं 1 बेटी थी, उनके दोनों बेटों का निधन हो चुका है जबकि उनके पति का भी देहावसन हो चुका है। द्रोपदी मुर्मू झारखंड की भी राज्यपाल रहीं है। वह झारखंड की पहली महिला राज्यपाल बनीं थी।

राष्ट्रपति उम्मीदवार बनने के बाद द्रौपदी मुर्मू की बेटी ने कही दिल की बात

झारखंड की पूर्व राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू की जीत लगभग तय मानी जा रही है। पहली बार कोई आदिवासी राष्ट्रपति के पद पर आसीन हो सकता है। ऐसे में द्रौपदी मुर्मुकि बेटी इति श्री मुर्मू कहती हैं, “आदिवासी लोग पुलिस थाने या कोर्ट जाने से डरते हैं। जब वह किस आदिवासी को देखते हैं तो उन्हें विश्वास होता है कि वह भी कुछ कर सकते हैं। आपको बता दें कि मुर्मू 2021 में राज्यपाल के पद रिटायर होने के बाद अपने कस्बे में स्थित शिव मंदिर पर प्रतिदिन झाड़ू लगाती हैं और मंदिर परिसर को रोजाना साफ करती हैं।

द्रौपदी मुर्मू- FAQ

द्रौपदी मुर्मू कौन है?

NDA की तरफ से द्रौपदी मुर्मू को राष्ट्रपति पद का उमीदवार बनाया गया है

द्रौपदी मुर्मू कहाँ की राज्यपाल थीं ?

द्रौपदी मुरमी झारखण्ड की राज्यपाल थी. वह २०१५ से २०२१ तक इस पद पर रही

Leave a Comment