E Shramik Card Scheme: इन्हें नहीं मिलेगा श्रमिक कार्ड योजना का लाभ, देखें अपना नाम

E Shramik Card Scheme: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( CM Yogi Adityanath) जिन्होंने 5 जनवरी 2022 को ई-श्रम कार्ड धारकों के बैंक खातों में 1000 की राशि प्रदान की यह राशि उन्हीं कार्ड धारकों को मिली है जिन्होंने 31 दिसंबर 2021 से पहले पंजीकरण कराया था। कुल 1.5 करोड़ लाभार्थियों को उत्तर प्रदेश सरकार ने यह राशि प्रदान की है।

E Shramik Card Scheme

E Shramik Card Scheme

अब भी कई लाखों लोग है जिन्हें ई-श्रम कार्ड द्वारा मिलने वाली राशि नहीं मिली है और आगे भी मिलने की उम्मीद नहीं है। आइए विस्तार से बताते हैं किन्हें नहीं मिलेगी ई-श्रम कार्ड की राशि।

इनको नहीं मिलेगी ई-श्रम (E Shramik Card Scheme) की राशि

  1. प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के लाभार्थी किसान भाई-बहनों को ई-श्रम कार्ड की पहली किश्त का 1000 रू. नहीं दिया जाएगा। क्योंकि सालाना उन्हें प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना ( PM Kisan Saman Nidhi Yojana) के तहत 6000 रू. की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।
  2. सभी विद्यार्थियों को पहली किश्त प्रदान नहीं की जाएगी।
  3. यदि आपको किसी अन्य सरकारी योजना पर पेंशन योजना का लाभ मिलता है तो आपको ई-श्रम कार्ड ( E Shramik Card Scheme ) योजना का लाभ नहीं मिलेगा।
  4. यदि आप ईपीएफओ ( EPFO) के कर्मचारी हैं या फिर आपका पीएफ ( PF) कटता है तो फिर आपको इस ई-श्रम कार्ड ( E Shramik Card Scheme ) के तहत पहली किश्त का 1000 रू. नहीं दिया जाएगा।

ई-श्रम कार्ड( E Shramik Card Scheme ) के फायदे

इस कार्ड के बनने के बाद कामगारों को 2 लाख रूपए का बीमा कवर मिलेगा और इसके अलावा उन्हें रोजगार मिलने की संभावना भी बढ़ जाती है। ई-श्रम कार्ड ( E Shramik Card Scheme ) की मदद से कामगार सरकार द्वारा चलाई जा रही विभिन्न महत्वाकांक्षी योजनाओं का लाभ उठा सकते हैं। 60 की उम्र के बाद 3000 तक की पेंशन का भी लाभ उठा सकते हैं।

मार्च में आएगी ई-श्रम कार्ड ( E Shramik Card Scheme ) योजना की दूसरी किश्त

जानकारी के अनुसार जल्द ही उत्तर प्रदेश सरकार दूसरे चरण में लगभग 2.31 करोड़ लाभार्थियों को मार्च 2022 में दूसरी किश्त प्रदान करेगी।

कौन ले सकता है? ई-श्रम कार्ड ( E Shramik Card Scheme ) योजना का लाभ

इस योजना के तहत वो सभी लोग पंजीकरण कराने सकते हैं जो कि सड़क किनारे रेहड़ी लगाते हैं और खोमचा लगाने वाले, रिक्शा व ठेला चलाने वाले, नाई, धोबी, दर्जी, मजदूर और श्रमिक जो किसी निर्माण कार्य से जुड़े हुए है। लाभार्थी इस योजना का लाभ उठाने के लिए अपने निकटतम लोक सेवा केंद्र में जाकर अपना नाम दर्ज करवा सकते हैं।

Leave a Comment