Godhan Nyay Yojana: गोबर बेचकर करें मोटी कमाई, पशुपालक से गोबर खरीदेगी सरकार, ऐसे करें आवेदन

Godhan Nyay Yojana: जानिए क्या है मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना 2021, और किसानों को कैसे मिलता है,लाभ क्या है,इस योजना के उद्देश्य और सरकार द्वारा क्यों की जा रही है,इस योजना की पहल.

godhan nyay yojana
godhan nyay yojana

मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना 2021 (Godhan Nyay Yojana)

छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा शुरू की गई मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना 2021 (Godhan Nyay Yojana) का मुख्य उद्देश्य पशुओं से प्राप्त खाद खरीदने के लिए किया गया है. छत्तीसगढ़ सरकार ( Chattisgarh sarkar) के द्वारा यदि हम आंकड़ों की बात करें तो गौशालाओं से लगभग 600000 क्विंटल खाद का उत्पादन हो सकता है. गौठानो के इस महत्वपूर्ण योगदान को देखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार (Chattisgarh Goverment) के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी ने फैसला किया है, कि इस खाद का इस्तेमाल ग्रामीण औद्योगिक पार्क बनाने के लिए किया जाएगा.

छत्तीसगढ़ पशु पालकों को इससे आमदनी भी प्राप्त होगी. मुख्यमंत्री श्री बघेल जी ने यह भी बताया कि छत्तीसगढ़ में गौधन योजना 2021 चलाई जा रही है. इस योजना (Scheme) को श्री बघेल जी द्वारा ही 20 जुलाई 2020 को शुरू किया गया था. इस योजना के तहत सरकार उन किसानों से गोबर खरीदेगी जो पशुओं का पालन करते है, और बदले में उन्हें धन प्रदान करेगी इस योजना के तहत पशु पालक से खरीदे गए खाद और गोबर का इस्तेमाल सरकार (Goverment) वर्मी कंपोस्ट खाद बनाने के लिए करेगी. जानवरों के गुणवत्ता में भी सुधार होगा तथा उनकी दयनीय स्थिति को अब किसी भी विकट परिस्थिति का सामना नहीं करना पड़ेगा.

₹2 प्रति किलो की दर से.

छत्तीसगढ़ सरकार (Chattisgarh Goverment) द्वारा गौशालाओं से खरीदे जाने वाले गोबर की कीमत प्रति किलो ₹2 रखी गई है. इस योजना को छत्तीसगढ़ सरकार (Chattisgarh Goverment) द्वारा 21 जुलाई 2020 को शुरू की गई थी. इस योजना (Scheme) के तहत सरकार द्वारा एक सौ करोड़ रुपए के गोबर अब तक खरीदे जा चुके है

इस गोबर का इस्तेमाल सरकार द्वारा खाद बनाने के लिए किया जाएगा. जिससे भूमि की उर्वरता क्षमता को बरकरार रखा जाए यदि हम आने वाले वर्षों की बात करें, तो सरकार ने अब तक गौशालाओं से लगभग 5000000 टन गोबर खरीद लिया है. राज्य के पशुपालकों को इस योजना (Scheme) का सीधा लाभ भी प्राप्त हो रहा है. छत्तीसगढ़ के पशुपालक किसान इस योजना का लाभ उठाने के लिए सीजी गोधन न्याय स्कीम के तहत आवेदन कर सकते है.

मुख्यमंत्री गोधन न्याय योजना (Godhan Nyay Yojana) कैसे करें आवेदन.

यदि आप छत्तीसगढ़ के निवासी है, और आप मुख्यमंत्री के द्वारा चलाई जा रही गोधन न्याय योजना (Godhan Nyay Yojana) के तहत आवेदन करना चाहते है, तो हम आपको बता रहे है, कि आप किस प्रकार यहां पर आवेदन कर सकते है, ताकि आपको गोबर के बदले धनराशि प्राप्त हो सके इस योजना का लाभ उठाने के लिए आपको छत्तीसगढ़ गोधन योजना (Godhan Nyay Yojana) के तहत आवेदन करना होगा. छत्तीसगढ़ गोधन योजना (Godhan Nyay Yojana) के पहले चरण में अब तक लगभग राज्य के 2240 गौशालाओं को जोड़ा गया है. इसके बाद 2800 और शालाओं का निर्माण होने के बाद दूसरे चरण में भी सरकार के द्वारा गोबर खरीदा जाएगा. सरकार ने इस गोबर की कीमत ₹2 प्रति किलो की दर से तय की है.

100 करोड़ से अधिक राशि का किया गया वितरण

छत्तीसगढ़ सरकार (Chattisgarh Goverment) द्वारा 8 सितंबर 2021 को राजधानी रायपुर में आयोजित कार्यक्रम के दौरान श्री बघेल ने बताया कि, पशु पालक एवं संग्रह को के खाते में गोधन योजना (Godhan yojana) के तहत 27वी किश्त की राशि का वितरण किया जा चुका है. कार्यक्रम के दौरान मुख्यमंत्री जी ने यह भी बताया कि इस योजना (Scheme) के तहत 1 दिन में लगभग 100 करोड़ से अधिक राशि भी वितरित की गई है. इसके लिए मुख्यमंत्री जी ने सभी पशुपालकों को बधाई दी.

इस योजना (Scheme) के अंतर्गत स्वयं सहायता समूह के द्वारा एक करोड़ 41 लाख और गौशाला समितियों को दो करोड़ 18 लाख स्वयं सहायता समूह को कुल इक्कीस करोड़ 42 लाख तथा उठाना समितियों को 32 करोड ₹94 की धनराशि प्रदान की जा चुकी है. गोबर खरीदने की एवज में मुख्यमंत्री द्वारा पशु पालक और को स्व सहायता समूह और गौशाला समितियों को अब तक कुल मिलाकर ₹53300000 की राशि प्रदान की जा चुकी है.

गौशालाओं को ग्रामीण औद्योगिक पार्क के तौर पर विकसित किया जाएगा

छत्तीसगढ़ सरकार (Chattisgarh Goverment) के द्वारा पशुपालकों से ₹2 प्रति किलो की दर से जो गोबर खरीदा जा रहा है, उस गोबर का इस्तेमाल ग्रामीण औद्योगिक पार्क बनाने के लिए किया जाएगा. इस पार्क का इस्तेमाल सरकार जैविक खाद बनाने के लिए करेगी सरकार का मानना है कि यदि 1 वर्ष में गौशालाओं से 2000000 क्विंटल खाद का उत्पादन किया जाएगा. तो उस के माध्यम से लगभग 2000 करोड रुपए की उत्पन्न होगी. इसी के साथ गौशाला में अन्य आर्थिक गतिविधियां भी होंगी. जिससे सरकार का टर्नओवर बढ़ेगा गोधन के माध्यम से ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लोगों को रोजगार भी प्राप्त होगा जिससे उन्हें अपने गांव और परिवार से दूर नहीं रहना पड़ेगा.

आवेदन के लिए जरूरी दस्तावेज.

यदि आप भी छत्तीसगढ़ सरकार (Chattisgarh Goverment) के इस योजना (Scheme) का लाभ उठाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको कुछ जरूरी कागजात चाहिए होंगे. जिसके माध्यम से आप छत्तीसगढ़ सरकार की गोधन योजना स्कीम (Godhan yojana scheme) के तहत आवेदन कर सकते है. इसके लिए आपके पास आधार कार्ड आपका बैंक अकाउंट खाता जो कि आपके मोबाइल नंबर के साथ रजिस्टर्ड होना चाहिए. गौशाला में पाले जाने वाले पशुओं की संख्या और प्रतिदिन होने वाले खाद का उत्पादन आवेदन के तहत प्रेषित किया जाना चाहिए.

यह भी जाने :

Leave a Comment

x