LOAN MAAFI YOJANA: इन किसानों का कर्ज नहीं किया जाएगा माफ़, कहीं आपका नाम तो नहीं

LOAN MAAFI YOJANA: आपने अक्सर ख़बरों में सुना होगा या पढ़ा होगा कि देश में किसी किसान ने कर्ज से परेशान होकर आत्महत्या कर ली है. अक्सर ऐसी ख़बरें पढ़ कर हम यही सोचने को मजबूर होते हैं कि आखिर क्यूँ सरकार इन गरीब किसानों के लिए कुछ क्यूँ नहीं करती है. इसी वजह से सरकार अब किसानों के लिए ऋण माफ़ी योजना शुरू की है. इस योजना के तहत सरकार द्वारा देश के किसानों का सभी पुराना कर्ज माफ कर दिया जाएगा ताकि किसान अपनी खेती और कृषि संबंधी समस्याओं को दूर करने के लिए नया कर्ज ले सके. साथ ही इस योजना के द्वारा सरकार देश के अन्नदाता को आर्थिक मजबूती भी प्रदान करेगी. लेकिन कर्ज माफ़ी की इस योजना के अंतर्गत लाभ उठाने के लिए आपको सरकार द्वारा तय की गई पात्रताओं को पूरा करना होगा. जो किसान इन शर्तों और नियमों को पूरा करेगा उसका ही कर्ज माफ़ किया जाएगा. तो अगर आप भी यह जानना चाहते हैं कि क्या आपका कर्ज माफ़ हो सकता है या नहीं तो आप इस लेख को अंतिम तक ज़रूर पढ़ें.

LOAN MAAFI YOJANA

LOAN MAAFI YOJANA

क्या है कर्ज माफ़ी योजना

यह एक सरकारी योजना है जिसे देश के अधिकतर राज्यों में शुरू किया जा चुका है. इस योजना के माध्यम से सरकार छोटे बैंकों के साथ मिलकर किसानों के पुराने ऋण माफ़ किए जाते हैं. इसके तहत किसानों का 50 हजार से लेकर 2 लाख रुपये तक का लोन माफ़ किया जाता है. लेकिन कई बार इस योजना की सही जानकारी ना होने के कारण कई पात्र किसान इसका लाभ नहीं उठा पाते हैं. वहीँ कई अपात्र किसान भी जानकारी के अभाव में इस योजना के लिए आवेदन कर देते हैं. ऐसे में इस योजना वा इसकी पात्रता से संबंधित जानकारियों का होना बहुत जरूरी है.

कौन है इस योजना के पात्र

इस योजना के लिए पात्र होने के लिए किसान का निम्न नियमों और शर्तों को पूरा करना अनिवार्य है.

  • ऋण माफी योजना का लाभ लेने के लिए किसान की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए
  • किसान के पास मान्य आधार नंबर होना चाहिए
  • किसान के पास वैध राशन कार्ड होना चाहिए
  • किसान के पास किसान क्रेडिट कार्ड होना अनिवार्य है
  • अगर किसी किसान ने एक से ज्यादा बैंक से लोन लिया है तो सिर्फ इस योजना के अंतर्गत आने वाले सहकारी बैंक से लिया गया कर्ज ही माफ किया जाएगा।

जानें किन किसानों का कर्ज नहीं किया जाएगा माफ़

सरकार द्वारा शुरू की गई कर्ज माफ़ी योजना के अंतर्गत विभिन्न प्रदेशों के छोटे किसानों का कर्ज माफ़ किया जाएगा. जिन किसानों को कर्ज माफ़ी का योजना का लाभ नहीं मिल सकता है उनका विवरण निम्न है –

  • ऐसे सभी किसान जो राज्य सभा, लोकसभा या विधानसभा के सदस्य थे या हैं. वही जिला पारिषद के पूर्व वा वर्तमान अध्यक्ष और मंत्री भी इस योजना के लिए पात्र नहीं होंगे.
  • केंद्र या राज्य सरकार के विभागों के अधीनस्थ में कार्यरत या सेवानिवृत्त सभी कर्मचारी.
  • सभी सेवानिवृत्त पेंशनधारी जिनकी मासिक पेंशन 10000 रुपये से अधिक है.
  • गत वर्ष 2020-21 में आयकर देने वाले इस योजना का लाभ नहीं उठा सकते हैं.

कर्ज माफ़ी की इस योजना की शुरुआत देश के विभिन्न राज्यों में हो चुकी है. राजस्थान, मध्यप्रदेश, उत्तर प्रदेश और झारखण्ड में सरकार ने किसानों की कर्ज माफ़ी की प्रक्रिया शुरू भी कर दी है. यकीनन सरकार का यह कदम किसानों को सशक्त करने के साथ ही उनको आर्थिक मजबूती भी प्रदान करेगा.

Leave a Comment