MICHIAKI TAKAHASHI IN HINDI : एक ऐसे महान VIROLOGIST जिनकी एक खोज साबित हो गयी दुनिया के लिए वरदान

MICHIAKI TAKAHASHI IN HINDI : एक ऐसे महान VIROLOGIST जिनकी एक खोज साबित हो गयी दुनिया के लिए वरदान

Michiaki Takahashi in hindi: हाल ही में अगर आपने GOOGLE के DOODLE पर गौर किया हो तो आपने देखा होगा कि इस doodle में एक डॉक्टर एक बच्चे की जाँच कर रहा है. इस doodle के माध्यम से Google ने DR. MICHIAKI TAKAHASHI को उनकी 94वीं जयंती पर श्रद्धांजलि अर्पित की है. आइए आज इस लेख में जानते हैं DR. MICHIAKI TAKAHASHI के बारे में जिन्होंने दुनिया को एक ऐसी देन दी जो समूचे विश्व के लिए एक वरदान साबित हो गया.

Michiaki Takahashi in hindi

DR. MICHIAKI TAKAHASHI का जन्म 17 फरवरी 1928 को जापान के ओसाका शहर में हुआ था. यह वो महान VIROLOGIST हैं जिन्होंने CHICKEN POX के खिलाफ सबसे पहले टीके की खोज की थी और इनकी यही महान खोज आज दुनिया के लिए जीवनदान साबित हो चुकी है. DR. MICHIAKI ने वर्ष 1954 में ओसाका विश्वविद्यालय के मेडिकल स्कूल से अपनी एमडी की पढ़ाई पूरी की. इसके बाद उन्होंने वर्ष 1959 में पॉक्सवायरस वायरोलॉजी में अध्ययन करते हुए एक शोधकर्ता के रूप में काम किया तथा मेडिकल साइंस में ग्रेजुएट कोर्स सम्पन्न किया. वर्ष 1963 से वर्ष 1965 के बीच DR. MICHIAKI ने टेक्सास स्थित बेयलर कॉलेज ऑफ मेडिसिन और पेनसिल्वेनिया में एक फेलोशिप रिसर्च कार्यक्रम के तहत काम किया जिसमें उन्होंने पोलियो खसरा जैसी बीमारियों के बारे में शोध की.

Michiaki Takahashi Biografia

DR. MICHIAKI TAKAHASHI was born on 17 February 1928 in Osaka, Japan. This is the great VIROLOGIST who discovered the first vaccine against CHICKEN POX and his great discovery has proved to be a lifeline for the world today. DR. MICHIAKI completed his MD from Osaka University Medical School in the year 1954. After this, he worked as a researcher in the year 1959 while studying in Poxvirus Virology and completed his graduate course in Medical Science. Between 1963 and 1965, Dr. MICHIAKI worked under a fellowship research program at Baylor College of Medicine in Texas and Pennsylvania in which he researched diseases like polio, measles.

DR. MICHIAKI को क्यूँ आया CHICKEN POX के खिलाफ वैक्सीन बनाने का ख्याल | Michiaki Takahashi Chickenpox vaccine

DR. MICHIAKI TAKAHASHI की पत्नी का नाम हिरोको ताकाहाशी था. DR. MICHIAKI के दो बच्चें थे. बात तब की है जब DR. MICHIAKI के बेटे को CHICKEN POX बीमारी ने जकड़ लिया. अपने बेटे को इस बीमारी की चपेट में आते देख DR. MICHIAKI काफी परेशान और चिंतित हुए. चूँकि DR. MICHIAKI का अधिकतर समय पोलियो और खसरे के बारे में अध्ययन और शोध करने में निकला था इसीलिए उनके लिए इस बीमारी का सामना कर पाना चुनौतीपूर्ण था. परंतु DR. MICHIAKI TAKAHASHI ने अपने आप से वादा किया और पूरी दृढ़ता के साथ CHICKEN POX नामक बीमारी का ईलाज ढूढ़ने में जुट गए.

michiaki takahashi scientist

करीब 5 साल के कठिन परिश्रम और शोध के बाद वर्ष 1974 में DR. MICHIAKI ने सफलतापूर्वक इस बीमारी के विरुद्ध टीके VACCINE की खोज कर ली. टीके के सफल ट्रायल के बाद विश्व स्वास्थ संगठन ने साल 1986 में इस टीके को मंजूरी दे दी जो आज भी विश्व के तक़रीबन 80 देशों के लोगों को इस बीमारी से लड़ने में मदद कर रहा है.

यह भी जानें : क्या होता है CHICKEN POX

CHICKEN POX एक की प्रकार की संक्रामक बीमारी है जो हर्पीस वेरीसेला-ज़ोस्टर वायरस (Herpes varicella- zoster virus) की वज़ह से होती है. यह बीमारी छूने, खाँसने और छींकने से फैलती है. 15 वर्ष या उससे कम उम्र के बच्चे इस बीमारी से अधिकतर प्रभावित होते है. आम बोलचाल की भाषा में CHICKEN POX को छोटी माता या चेचक के नाम से भी जाना जाता है. इस बीमारी में शरीर पर लाल रंग के दाने उभर आते हैं. साथ ही बुखार, उल्टी-चक्कर आना, शरीर और मांसपेशियों में दर्द होना भी इस बीमारी के लक्षण हैं. यह एक काफी संक्रामक रोग है जो छूने, खांसने और संपर्क में आने से फैलता है.

Michiaki takahashi death

16 दिसम्बर 2013 को जापान में DR. MICHIAKI TAKAHASHI का हार्टअटैक की वजह से निधन हो गया. लेकिन आज भी यह डॉक्टर अपनी US महान खोज के लिए याद किए जाते हैं जो दुनिया के लिए जीवनदान साबित हुई है. आज अगर हम CHICKEN POX जैसी संक्रामक बीमारी का सामना कर सकते हैं तो उसकी वजह है DR. MICHIAKI TAKAHASHI का कठिन परिश्रम और गहरी शोध जिसने इसके टीके का निर्माण संभव किया.

Leave a Comment