{2021 Registration} Mukhyamantri Solar Pump Yojana MP Registration

Mukhyamantri Solar Pump Yojana MP Registration

कृषि एक व्यवसाय है जिसे भारत में लगभग 50 प्रतिशत जनता कर रही है। इसीलिए भारत को कृषि प्रधान देश की संज्ञा दी गई है। भारत की GDP में कृषि का एक बड़ा योगदान है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए भारत एवं राज्य सरकारें खेती की तरफ ज्यादा रुझान बढ़ा रही हैं और किसानों को आर्थिक सहायता के साथ खेती करने के लिये हर प्रकार की मदद मुहैया करा रहीं हैं।

इसी क्रम में मध्य प्रदेश सरकार ने किसानों के हित के लिए मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना की शुरुआत की है। भारत सरकार की kusum yojana के अंतर्गत इस योजना का लाभ राज्य सरकार आपको देगी। mukhyamantri solar pump yojana में आवेदक को 90 प्रतिशत तक का अनुदान कुसुम योजना और मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के अंतर्गत राज्य सरकार आपको देगी। आज के इस लेख में हम आपको mukhyamntri solar pump yojana, Mukhyamantri Solar Pump Yojana MP Registration, मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के लाभ, उद्देश्य एवं आवेदन की सम्पूर्ण जानकारी उपलब्ध करायेंगे।

Contents show

Mukhyamantri solar pump yojana

 Mukhyamantri Solar Pump Yojana MP Registration
मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना की शुरुआत मध्य प्रदेश सरकार ने मध्य प्रदेश के किसानों को खेती में सिंचाई के किये अत्याधुनिक सुविधा दिलाने के लिए शुरू की है। mukhyamantri solar pump yojana की शुरुआत की है। मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना को PM KUSUM YOJANA का सानिध्य प्राप्त है। भारत सरकार और मध्य प्रदेश की सरकार मिलकर राज्य में रहने वाले किसानों को सोलर पंप पर 90 प्रतिशत तक का अनुदान दिलाती है।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना :

वर्तमान दौर में ऊर्जा का उपयोग तेजी से हो रहा है। इसी को देखकर ऊर्जा सरंक्षण की मांग बढ़ती जा रही है, इसी के साथ साथ ऊर्जा के नए नए स्त्रोत तलाशे जा रहें हैं। जिनमें सोलर ऊर्जा प्रमुख है। भारत में ऊर्जा के नए स्त्रोतों का भंडारण प्रचुरता में हैं। भारत में नए ऊर्जा के स्रोतों का इस्तेमाल पर तेजी से ध्यान दिया जा रहा है क्योंकि जो ऊर्जा के स्त्रोत मौजूद है उन्हें संरक्षित किया जा सके। भारत में नवकरणीय ऊर्जा उत्पाद व प्रणालियों के उपयोग का विश्व का सबसे बड़ा कार्यक्रम लागू है। 2012 तक भारत मे कुल विद्युत उत्पादन क्षमता 2,05,340.26 मेगावाट आंकी गई जिसमें नवकरणीय ऊर्जा की 12 % भागीदारी है।

Madhya pradesh solar pump yojana 2021

मध्य प्रदेश सरकार व भारत सरकार के कुसुम योजना के साथ मिलकर चलाई जा रही इस योजना में ऐसे किसानों को वरीयता दी जाती है जहां बिजली की पहुँच नहीं हैं। उन किसानों को इन योजना में लाभ के लिए प्रमुख रूप से आगे रखा जाता है जिनके खेतों में स्थायी कनेक्शन नहीं है या उस इलाके में विद्युत कंपनियों को वाणिज्यिक हानि है, जहां खेत की दूरी बिजली की लाइन से 300 मीटर से अधिक है या नदी बांध के पास ऐसे स्थान हो जहां प्रचुर मात्रा में पानी उपलब्ध हो एवं ऐसी फसलों की बुवाई जिसमें पानी का उपयोग ज्यादा हो ऐसे में राज्य सरकार ने mukhyamantri solar pump योजना के तहत डीजल या विद्युत पम्प की जगह सोलर पंप खेती की सिंचाई के लिए लगवाए हैं।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना क्या है

सोलर पम्प स्थापना हेतु ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये जाते हैं, जिसमें भारत शासन व मध्यप्रदेश शासन द्वारा अनुदान दिया जा रहा है। इस योजनांतर्गत कृषक को सोलर पम्प का लाभ इस शर्त पर दिया जाएगा कि कृषक की कृषि भूमि के उस खसरे/बटांकित खसरे पर भविष्य में विद्युत पम्प लगाये जाने पर उसको विद्युत प्रदाय पर कोई अनुदान देय नहीं होगा। कृषक द्वारा स्वप्रमाणीकरण भी दिया जाएगा कि वर्तमान में कृषक के उस खसरे/बटांकित खसरे की भूमि पर विद्युत पम्प संचालित/ संयोजित नहीं है। यदि सम्बन्धित कृषक उक्त विद्युत पम्प का कनेक्शन विच्छेद करवा लेता है अथवा उस पर प्राप्त अनुदान छोड़ देता है, तब उसे सोलर पम्प स्थापना पर अनुदान दिया जा सकता है।

OVERVIEW-Mukhyamantri solar pump yojana

योजना का नाम – Mukhyamantri solar pump yojana
राज्य- मध्य प्रदेश
सहयोग- PM कुसुम योजना
लाभार्थी- राज्य के किसान
आवेदन प्रक्रिया- ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट –https://cmsolarpump.mp.gov.in/Default

Objective of Mukhyamantri solar pump yojana

प्रदेश में ऊर्जा के साथ-साथ ऊर्जा की मांग में अनवरत बढ़ोतरी हो रही है। ऊर्जा के सीमित स्त्रोत होने के साथ उनके संरक्षण की बात सामने आती है। इसके अलावा ऊर्जा के बहुतायत में प्रयोग से प्रदूषण जैसे समस्या भी होती है। इसी बात को ध्यान में रखकर नवीनतम ऊर्जा के स्रोतों को तवज्जो दिया जा रहा है। इसी क्रम में मध्य प्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री सोलर पम्प योजना की शुरुआत की। इस योजना का उद्देश्य किसानों को विद्युत, डीजल इंजनों से छुटकारा दिलाकर सिंचाई के लिए सोलर पंप मुहैया कराया जाए। सोलर पंप चलाने के लिए कोई खर्चा नहीं लगता है जबकि डीजल या विद्युत पंप को चलाने में किसानों को ज्यादा खर्च आता है। इसी बात को ध्यान में रखकर मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना की शुरुआत की गई है।

Mukhymantri solar pump yojana के तहत राज्य सरकार किसानो को सोलर पंप में अनुदान देती है। जिससे किसानों को अतिरिक्त लाभ होगा एवं खेती करने में सुगमता आएगी।

Types of solar pump

सोलर पंपिंग सिस्टम के प्रकार हितग्राही किसान अंश (रु.)डिस्चार्ज (लीटर में प्रतिदिन)
1 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल 19000/- 30 मी. के लिए 45600, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 45 मी.
2 एच.पी.डी.सी. सरफेस 23000/- 10 मी. के लिए 198000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 12 मी.
2 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल25000/- 30 मी. के लिए 68400, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 45 मी.
3 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल
36000/30 मी. के लिए 114000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 45 मी. 50 मी. के लिए 69000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी. 70 मी. के लिए 45000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी.
5 एच.पी.डी.सी. सबमर्सिबल 72000/-50 मी. के लिए 110400, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी. 70 मी. के लिए 72000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी. 100 मी. के लिए 50400, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.
7.5 एच.पी.डी.सी.सबमर्सिबल135000/-50 मी. के लिए 155250, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी. 70 मी. के लिए 101250, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी. 100 मी. के लिए 70875, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.
7.5 एच.पी.ए.सी. सबमर्सिबल 135000/- 50 मी. के लिए 141750, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी. 70 मी. के लिए 94500, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी. 100 मी. के लिए 60750, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.
8
10 एच.पी. डी.सी. सबमर्सिबल
217840/-
50 मी. के लिए 207000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी. 70 मी. के लिए 135000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी. 100 मी. के लिए 94500, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.
9
10 एच.पी. ए.सी. सबमर्सिबल
217250/-50 मी. के लिए 189000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 70 मी. 70 मी. के लिए 126000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 100 मी. 100 मी. के लिए 81000, शट ऑफ़ डायनेमिक हेड 150 मी.  

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के नियम व शर्तें :-

  • किसान सिर्फ अपनी भूमि के लिए आवेदन कर सकता है
  • सोलर पंप पर केवल सिंचाई के लिए उपयुक्त होगा इसको बेचा या हस्तांतरण नहीं किया जाएगा।
  • किसान को मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड से सोलर पंप स्थापित करने के लिए सहमति प्रदान करनी होगी
  • सोलर पंप आवश्यक जल भंडारण की आवश्यकता अनुसार उपयोग होगा
  • किसान को अग्रिम आवेदन राशि एवं शेष राशि निर्धारित अवधि में जमा करने के लिए सहमति प्रदान करनी होगी
  • सोलर पंप स्थापना के उपरांत उसके रखरखाव की जिम्मेदारी किसान की होगी
  • सोलर पंप पर स्थापित हो जाने के बाद देश में कोई टूट-फूट होती है चोरी होती है तो निगम की कोई जिम्मेदारी नहीं होगी
  • सोलर प्लेटों को सेट करने के लिए खुले स्थान की जिम्मेदारी आवेदक की होगी।
  • सोलर प्लेट स्थापित करने के बाद यदि आवेदन अपना मोबाइल नंबर चेंज करता है तो अभी तक कुछ की जानकारी मध्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम के जिला कार्यालय में देनी होगी
  • एक बार स्थापित हो चुके सोलर पंप को दूसरी जगह ट्रांसफर नहीं कर सकते
  • सोलर पंप की कंट्रोलर एवं मोटर से ब्लू पिक्चर साड़ी वाली देश में कोई खराबी आती है जिसकी सारी जिम्मेदारी आवेदक की होगी
  • सोलर प्लेट की समय पर सफाई करने की जिम्मेदारी आवेदक की होगी

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के दिशा निर्देश :-

  • मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना राज्य में रह रहे संपूर्ण कृषकों के लिए लागू होगी
  • आवेदन करते समय आवेदक को निर्धारित ₹5000 की राशि मध्य प्रदेश ऊर्जा विकास निगम लिमिटेड में ऑनलाइन माध्यम से जमा करनी होगी
  • यदि सोलर पंप आपको अलॉट नही होता है तो राशि आपको वापस कर दी जाएगी। राशि में कोई ब्याज देय नहीं होगा।
  • निर्धारित लक्ष्य से आवेदन ज्यादा प्राप्त होते हैं तो निर्धारित प्रक्रिया के आधार ओर किसानों का चयन किया जाएगा।
  • राशि प्राप्त होने के बाद यदि मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना में आपका चयन होता है तो 120 दिन के अंदर सोलर पंप आपके कहे में लगा दिया जाएगा।
  • सोलर पम्प की स्थापना एवं संतोषप्रद प्रदर्शन उपरांत समस्त संयंत्र हितग्राही को सौंप दिया जाएगा।
  • इस योजना के तहत् स्थापित सोलर पम्प की जानकारी वाला बोर्ड सोलर पम्प पर लगाया जाएगा।
  • हितग्राहियों द्वारा आवश्यकता पड़ने पर मुख्य रोड से साईट (जहाँ पर सोलर पम्प की स्थापना की जानी है) वहाँ तक के ट्रान्सपोर्टेशन व स्थापना में सहयोग दिया जाना होगा।
  • किसी भी प्रकार की टूट-फूट/चेारी या क्षतिग्रस्‍त होने की स्थिति में तीन दिवस में पुलिस में एफ.आई.आर. करें एवं स्‍थापनाकर्ता इकाई एवं जिला कार्यालय को भी तत्‍काल सूचित करें। ताकि स्‍थापनाकर्ता इकाई Insurance Claim हेतु कार्यवाही कर सकें। Insurance Company द्वारा मान्‍य होने पर ही टूट-फूट / चोरी या क्षतिग्रस्‍त हेतु सुधार कार्य मान्‍य होगा।
  • पम्‍प स्‍थापना के उपरांत स्‍थापनाकर्ता इकाई से उनके कम्‍पनी का मुख्‍यालय का दूरभाष नम्‍बर प्रदेश स्‍तर का सर्विस सेन्‍टर का दूरभाष नम्‍बर एवं जिला स्‍तर के प्रतिनिधि का दूरभाष नम्‍बर अवश्‍य प्राप्‍त करें।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के आवश्यक दस्तावेज :-

  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • मोबाइल नंबर
  • आधार कार्ड
  • खेती के कागजात
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आवेदक का किसान कार्ड

Mukhyamantri Solar Pump Yojana MP Registration

यदि आप इस योजना के पात्र है और आवेदन के इछुक हैं तो आप इस प्रक्रिया को फॉलो करके आवेदन कर सकते हैं।

पहला चरण- सामान्य जानकारी

 Mukhyamantri Solar Pump Yojana MP Registration
मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना
  • Step 2 आधिकारिक वेबसाइट के होम पेज पर नवीन आवेदन करें का विकल्प दिखाई देगा.
  • Step 3 अब आपको किसान का मोबाइल नंबर दर्ज करना है। दर्ज किए गए नम्बर पर OTP प्राप्त होगा जिसे सत्यापित करना है।
  • Step 4 : OTP सत्यापन के पश्चात आपके सामने योजना में आवेदन का फॉर्म आएगा। जिसमें सबसे पहले आपको सामान्य जानकारी जैसे नाम, पिता का नाम, जिला तहसील, मोबाइल नंबर ईमेल ID की जानकारी देनी होगी।

दूसरा चरण :

  • Step 1: दूसरे चरण में आपको EKYC की प्रक्रिया करनी होगी।
  • Step 2: आपको अपना आधार नंबर डालना है। अब आपके पंजीकृत नम्बर पर OTP आएगी जिसे वेरीफाई करके ekyc की प्रक्रिया पूरी करें।

तीसरा चरण ( बैंक संबंधित जानकारी):-

अब आपको आवेदक की बैंक संबंधी जानकारी जैसे खाता संख्या, बैंक का नाम और IFCS कोड दर्ज करना है।

चौथा चरण (डेमाग्राफिक) :-

आवेदककर्ता की डेमाग्राफ़िक की जानकारी के लिए उसका समग्र ID के माध्यम से सत्यापन किया जाये। यहां आवेदक को अपना समग्र ID तथा परिवार ID दर्ज करनी होगा।

चौथा चरण (जातिगत जानकारी) :-

इसमे आपको जाति वर्ग की जानकारी दर्ज करनी है। आवेदक सामान्य, अन्य पिछड़वावर्ग, अनुसूचित जाति, एवं अनुसूचित जनजाति) संबंधी स्वप्रमाणित घोषणा की जानी अनिवार्य है।

पांचवा चरण (खसरा मैपिंग की जानकारी) :-

भूमि के सत्यापन के लिए आपको खसरा मैपिंग की जानकारी दर्ज करनी होगी। खसरे के जानकारी के चरण में जाकर भूलेख से खसरे का सत्यापन करना होगा।

छठा चरण (सोलर पंप की जानकारी) :-

अब आपको इस चरण में सोलर पम्प से जुड़ी जानकारी दर्ज करनी होगी। जैसे ही आप सोलर पम्पिंग सेट चुनेंगे इसके नीचे दी गई टेबल में कृषक अंश राशि आ जायेगी।

सातवां चरण ( दर्ज की गई जानकारी चेक करें)

सबसे अंत के विकल्प में आपको दर्ज की गई जानकारी चेक करनी है और और सत्यता संबंधी घोषणा पर टिक करके सबमिट करना है। अब आप इसे प्रिंट कर लें। आपको sms के माध्यम से आवेदन क्रमांक प्राप्त होगा। जिसके माध्यम से आपको पेमेंट करना है।

आठवां चरण :-

पंजीकरण के लिए आपको 5 हजार रुपये का भुगतान ऑनलाइन करना होगा। आप MP ऑनलाइन की सहायता से या स्वतः ही पेमेंट कर सकते हैं।

Mukhymantri solar pump yojana user login

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के अंतर्गत यदि आप आवेदन कर चुके हैं और लॉगइन करना चाहते हैं तो इस प्रक्रिया को फॉलो करें

  • सबसे पहले आप मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर
  • जाएं होम पेज पर आपको हितग्राही लोग इन का विकल्प दिखाई देगा।
  • आपको इस विकल्प का चयन करना है अब आप मोबाइल नंबर दर्ज करें और ओटीपी भेजें पर क्लिक करें
  • आपके मोबाइल नंबर पर ओटीपी प्राप्त हुआ जिसे दर्ज कर को सत्यापित करें और लॉगिन की प्रक्रिया पूरी कर ले।

Mukhyamantri solar pump yojana department login

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना के आधिकारिक लॉगइन करना चाहते हैं इस प्रक्रिया को फॉलो

  • सोलर पंप योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • होम पेज पर आपको डिपार्टमेंट login का विकल्प दिखाई देगा
  • अब लॉगिन के प्रकार चयन करें इसके पश्चात आप user
  • आईडी और पासवर्ड दर्ज करें और लॉगिन पर क्लिक कर दें।

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना जिला स्तरीय कार्यालय संपर्क सूत्र

  • जिला स्तरीय कार्यालय संपर्क सूत्र देखने के लिए सबसे पहले सोलर पंप योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं
  • होम पेज पर आपको जिला कार्यालय संपर्क का विकल्प दिखाई देगा
  • इस विल्ल्प पर क्लिक करें अब आपके सामने जिला कार्यालय संपर्क अधिकारियों की सूची जिला एवं नंबर आ जाएगा

मुख्यमंत्री सोलर पंप योजना- संपर्क सूत्र

मुख्य अभियंता
मध्यप्रदेश उर्जा विकास निगम लिमिटेड
उर्जा भवन ,लिंक रोड नं. – 2
शिवाजी नगर ,भोपाल (मध्यप्रदेश)
0755-2575670 , 2553595

Leave a Comment