{free} PM cares for children: Care of children orphaned by Covid-19

PM cares for children भारत मे कोरोना की दूसरी लहर ने कई जिंदगियां छीनी है। अस्पताल, ऑक्सीजन की मारामारी में कई लोगों ने अपनो को खोया है तो किसी के पूरे परिवार को इस वायरस ने निगल लिया।

दूसरी लहर में 4 लाख के करीब केस रोज आये और 4 हजार से ज्यादा लोगों ने प्रतिदिन अपनी जान गवाँई।धीरे धीरे दूसरी लहर की रफ्तार थम रही है लेकिन इस लहर में कई बच्चों के ऊपर से उनके माँ बाप अभिभावक का साया उठ गया। ऐसे बच्चों की मदद के लिए भारत सरकार आगे आई है। भारत के प्रधानमंत्री कोरोना के चलते बेसहारा हुए बच्चों की मदद के लिये आगे आये हैं। उन्होंने PM CARES FOR CHILDREN नाम से योजना का आरंभ किया। जिसमें कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को मुफ्त शिक्षा, उच्च शिक्षा ऋण, आदि कई सहायता दी जाएंगी।

PM cares for children scheme apply

{free} PM cares for children: Care of children orphaned by Covid-19
PM- CARES FOR CHILDREN

सरकारी आंकड़ों के मुताबिक कोरोना के कारण अब तक 3 लाख से अधिक मौतें भारत मे हो चुकी है। इनमें कई लोग ऐसे हैं जिनके जाने के बाद उनके बच्चे अनाथ हो गए। ऐसे में इन बच्चों का ध्यान रखते हुए मोदी सरकार ने अपने कार्यकाल की दूसरी वर्षगांठ में इस योजना की घोषणा की।

PM मोदी ने कहा – जिन बच्चों ने कोरोना के चलते अपने माता पिता या अभिभावकों की खोया है, उन्हें पीएम-केयर्स फ़ॉर चिल्ड्रन स्कीम के तहत सरकार उनका सहारा बनेगी। ऐसे बच्चों को 18 साल की उम्र होने पर हर महीने स्टाइपेंड दिया जाएगा। एवं 23 साल का होने पर PM CARES FUND से 10 लाख रुपये दिए जाएंगे। उन्हें आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख का बीमा दिया जाएगा।

banglarbhumi

PM cares for children

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा- बच्चे भारत के भविष्य है का प्रतिनिधित्व करते हैं। उनको सहारा देने एवं सुरक्षित करने के लिए सब कुछ किया जाएगा। उन्होंने कहा- एक समाज के रूप में यह सभी का कर्तव्य है कि अपने बच्चों की देखभाल करें। आपको बता दें कि केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने जानकारी दी थी कि देश मे कोरोना के कारण 577 बच्चों ने अपने माता पिता को खोया है।

Objective of PM cares for children :-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट के माध्यम से PM cares for children योजना की घोषणा की। इस योजना के तहत उन बच्चों को सहारा दिया जाएगा जिन्होंने इस महामारी के चलते अपने अभिभावकों/ माता पिता को खोया है। ऐसे में सरकार ने उनका सहारा बनकर कठिन परिस्थिति में अनाथ बच्चों को आगे बढ़ाने के उद्देश्य से इस योजना की शुरुआत की है। PM cares for children के तहत अनाथ बच्चे सरकार की सहायता से अपना जीवन यापन एवं आगे की पढ़ाई कर पायेंगे।

1. { Free } Pradhan mantri Garib kalyan yojana 2021
2. Begum hazrat mahal scholarship 2021
3. प्रधानमंत्री आवास योजना 2020-2021 की नई लिस्ट कैसे देखें?
4. PM Kisan Samman Nidhi Beneficiary Status
5. प्रधानमंत्री रोजगार प्रोत्साहन योजना 2021

Benefits of PM- cares for children scheme

1. बच्चों के नाम फिक्स डिपॉजिट

PM cares for children के तहत ऐसे प्रत्येक बच्चे के लिए कोष बनाया जाएगा जिसमें 10 लाख रुपये जमा किये जाएंगे। इसके जरिये 18 साल की उम्र तक प्रत्येक महीने एक तय राशि मदद के रूप में सरकार देगी। 23 साल की उम्र पूरी होने तक यह रकम पूरी दे दी जाएगी।

2. स्कूली पढ़ाई

10 वर्ष की उम्र के बच्चों के लिए नजदीकी केंद्रीय विद्यालय या प्राइवेट स्कूल में डे स्कॉलर के रूप में ऐडमिशन दिया जाएगा। अगर बच्चे का दाखिला प्राइवेट स्कूल में होता है तो शिक्षा के अधिकार के नियमो के मुताबिक PM CARE FUND से पैसा दिया जाएगा। स्कूल ड्रेस, किताबों, नोटबुक आदि पर होने वाला खर्च सरकार देगी।

3. हायर एजुकेशन में भी सरकार करेगी मदद :-

भारत मे प्रोफेशनल कोर्स या हायर एजुकेशन के लिए एजुकेशन लोन नॉर्म्स के मुताबिक शिक्षा ऋण प्रदान किया जाएगा जिसका ब्याज सरकार प्रधानमंत्री राहत कोष से देगी। विकल्प के तौर पर सरकार केंद्र या राज्य सरकारों की योजना के तहत ग्रेजुएशन या प्रोफेशनल कोर्स के लिए कोर्स फीस के बराबर छात्रवृति दी जायेगी। जो बच्चे छात्रवृति के लिए पात्र नहीं है उन्हें pm केयर्स से एक जैसी छात्रवृति मिलेगी।

4. स्वास्थ्य बीमा का मिलेगा लाभ :-

सभी अनाथ बच्चों को आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थी माना जायेगा उन्हें 5 लाख का बीमा कवर मिलेगा। 18 वर्ष की उम्र तक ऐसे बच्चो को प्रीमियम राशि भुगतान PM केयर्स से मिलेगा।

राज्यों ने भी शुरू की अनाथ बच्चों के लिए योजना की शुरुआत

अनाथ बच्चों का सहारा बनने के लिए केंद्र सरकार से पहले राज्य सरकारें आगे आ चुकी हैं। हाल ही में उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, कर्नाटक, दिल्ली आदि के मुख्यमंत्रियों ने योजनाओ का ऐलान किया है।

उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना :-

सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने कोरोना के कारण अनाथ हुए बच्चों के लिए बाल सेवा योजना को आरंभ किया है। इस योजना में 555 बच्चों को चिन्हित किया गया है। बाल सेवा योजना में पढ़ाई एवं विवाह का खर्च सरकार उठाएगी। ऑनलाइन पढ़ाई के लिए लैपटॉप और टैबलेट सरकार देगी, प्रत्येक महीने 4 हजार की राशि दी जाएगी, जिन बच्चों का कोई नहीं है उन्हें बाल संरक्षण केंद्र में रखा जाएगा जहाँ सरकार इनकी देखरेख करेगी। अनाथ लड़कियों की शादी के लिए 1.10 लाख की मदद सरकार देगी।

मध्य प्रदेश कोविड बाल कल्याण योजना :-

मध्य प्रदेश सरकार ने अनाथ बच्चों के लिए MP COVID BAL KALYAN YOJANA योजना की शुरुआत की है। इसमें 325 बच्चों को चिन्हित किया गया। इस योजना में राज्य सरकार 5 हजार प्रतिमाह पेंशन, महीने का निःशुल्क राशन, 12 वीं तक निशुल्क पढ़ाई, कॉलेज की पढ़ाई का सारा खर्चा राज्य सरकार देगी।

हरियाणा एवं कर्नाटक सरकर ने भी किया ऐलान

अनाथ बच्चों को सहारा देने के लिए हरियाणा एवं कर्नाटक की सरकारें भी आगे आई हैं। जिन्हें आर्थिक लाभ, एवं पढ़ाई का पूरा खर्च सरकार देगी।

Leave a Comment