Rajiv Gandhi Bhumihin Nyay Yojana: किसानों को मिलेंगे 6 हजार रूपये, शुरू हुए आवेदन, देखें प्रक्रिया

Rajiv Gandhi Bhumihin Nyay Yojana भारत एक कृषि प्रधान देश है, और यहां पर आधी से ज्यादा आबादी कृषि क्षेत्र पर आश्रित है. कृषि कार्यों से ही किसान अपने परिवार का पेट भरता है,तथा आर्थिक सामंजस्य बनाकर रखता है.कृषि के माध्यम से ही किसान अपने परिवार का भरण पोषण भी करता है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल जी द्वारा Rajiv Gandhi Bhumihin Nyay Yojana को शुरू किया गया है.

Rajiv Gandhi Bhumihin Nyay Yojana: किसानों को मिलेंगे 6 हजार रूपये, शुरू हुए आवेदन, देखें प्रक्रिया

 यह योजना उन सभी लोगों के लिए है जो कृषि के कार्य में लगे हुए है, तथा अपना जीविका उपार्जन कर रहे है.छत्तीसगढ़ सरकार राज्य के भूमिहीन  मजदूरों को भी इस योजना के तहत लाभ आवंटित करने की कोशिश कर रही है. हम आपको बता दें कि छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा जिन किसानों के पास भूमि नहीं है. उन्हें वार्षिक आधार पर ₹6000 की वित्तीय सहायता राशि प्रदान करने का निर्णय लिया गया है. सरकार के द्वारा इस योजना के लिए लगभग 200 करोड़ का बजट भी निर्धारित किया गया है. राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर नया योजना 2021 खेत में काम करने वाले मजदूरों के लिए बहुत ही लाभदायक है. यदि आपके पास भी अपनी जमीन नहीं है, और आप कृषि कार्यों में लिप्त हो तो आप को भी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहिए.

Rajiv Gandhi Bhumihin Nyay Yojana

 हम आपको बताना चाहते है कि राजीव गांधी भूमिहीन कृषि मजदूर  न्याय योजना के तहत ₹6000 की राशि राज्य सरकार के द्वारा कृषि क्षेत्र में मजदूरी करने वाले लोगों के बैंक खातों में भेजी जाएगी.यदि आप भी इस योजना का लाभ उठाना चाहते है, तो आप के पास बैंक खाता होना आवश्यक है. यह बैंक खाता आपके आधार कार्ड से भी जुड़ा हुआ होना चाहिए, तभी आप को इस योजना का लाभ प्राप्त हो पाएगा. राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर नया योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन मांगे जा रहे है. यदि आप भी इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते है. इसके लिए आपको पहले रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. यह रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया 1 सितंबर 2021 से शुरू हो जाएगी और 30  नवंबर 2021 को योजना के तहत आवेदन करने की अंतिम तिथि है.

Rajiv Gandhi Bhumihin Nyay Yojana

 राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर नया योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन किया जा रहा है. हम आपको बता दें कि इस योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले लगभग 1500000 भूमिहीन कृषि मजदूरों को इस योजना में शामिल किया जाएगा. इस योजना का लाभ पाने के लिए आपको पहले रजिस्ट्रेशन कराना पड़ेगा रजिस्ट्रेशन की अंतिम तिथि 30 नवंबर 2021 आवेदन करने के इच्छुक है, तो आप अपने स्मार्टफोन अथवा कंप्यूटर के माध्यम से आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर के ऑनलाइन आवेदन कर सकते है.

 कृषि मजदूरों की कमाई केवल खरीफ फसल के समय ही हो पाती है, और इसके बाद साल भर उनके पास कोई भी काम नहीं होता है. जिसकी वजह से उन्हें आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ता है. भूमिहीन किसानों की समस्या को ध्यान में रखते हुए छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा योजना आरंभ की जा रही है.इस योजना के दिशा निर्देश छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा आधिकारिक पोर्टल पर जारी कर दिए गए है.

राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर न्याय योजना का उद्देश्य.

 राजीव गांधी ग्रामीण भूमिहीन कृषि मजदूर योजना 2021 का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों के मजदूरों को लाभ पहुंचाना है, जो खेती का कार्य तो करते है. लेकिन उनके पास अपनी खुद की जमीन नहीं होती है, और इन लोगों के पास दूसरों के खेतों में काम करने का एकमात्र मुख्य आय का साधन होता है, लेकिन साल के कुछ महीने ऐसे भी होते है. जब इनके पास कृषि से जुड़ा कोई भी कार्य नहीं होता है जिसकी वजह से इन्हें गंभीर स्थिति का सामना करना पड़ता है. छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा ऐसे ही किसानों को बचाने की योजना बनाई गई है. हम आपको बता दें कि इस योजना का फायदा उठाने के लिए आवेदकों के पास बैंक खाता अवश्य ही होना चाहिए.जो उनके आधार कार्ड से जुड़ा हो, तभी उन्हें इस योजना का लाभ हो पाएगा छत्तीसगढ़ सरकार ने कोशिश कर रही है. कि इस योजना के माध्यम से भूमिहीन कृषकों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जा सके जिससे वह अपने परिवार का भरण पोषण कर सके.

Rajiv Gandhi Bhumihin Nyay Yojana पात्रता.

 छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा इस योजना के लिए आवेदन मांगे गए है. यह आवेदन केवल वही लोग कर सकते है. जिन्हें छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करना हम आपको बता रहे है, कि वह कौन सी मुख्य बातें है जिन्हें ध्यान में रखकर के इस योजना के तहत आवेदन कर सकते है.

भूमिहीन कृषक छत्तीसगढ़ राज्य का मूल निवासी होना चाहिए.तभी उसे  इस योजना का लाभ प्राप्त होगा इसके अलावा यदि किसी के परिवार के पास पट्टे पर सरकारी जमीन या फॉरेस्ट राइट सर्टिफिकेट है,तो उसे भी योजना के तहत लाभार्थी माना जाएगा.इसके अलावा ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले मजदूर जैसे बड़े लोहार,चरवाहा, धोबी, मोची,पंडित योजना के तहत आवेदन कर सकते है. छत्तीसगढ़ राज्य में जिन किसानों के पास अपनी भूमि नहीं है. वह भी इस योजना के तहत आवेदन करें. यदि आवेदक की मृत्यु हो जाती है, तो आवेदक के परिवार वालों को दोबारा से इस योजना के लिए आवेदन करना होगा.

Rajiv Gandhi Bhumihin Nyay Yojana आवश्यक दस्तावेज.

यदि आप भी राजीव गांधी ग्रामीण  भूमिहीन न्याय योजना के तहत आवेदन करना चाहते है. तो आपके पास आपका अपना आधार कार्ड बैंक की पासबुक वोटर आईडी कार्ड रजिस्टर मोबाइल नंबर जो आपके आधार कार्ड और बैंक अकाउंट से जुड़ा हुआ होना.चाहिए खसरा की प्रतिलिपि रिकॉर्ड के आधार पर ग्राम वार विवरण अंकित होना चाहिए..

इन्हें भी पढ़ें-

Leave a Comment