SAUR URJA SAHAYTA YOJNA : श्रमिकों के जीवन के में उजियारा लाएगी यह योजना, क्या है यह योजना जानें यहां

SAUR URJA SAHAYTA YOJNA: केंद्र सरकार के द्वारा कई ऐसी योजनाओं का शुभारंभ किया गया है या किया जाता रहता है जिनका उद्देश्य देश के सभी श्रमिकों को सहायता प्रदान की जाती है. केंद्र सरकार से ही प्रेरित होकर विभिन्न राज्यों की सरकारें भी अपने राज्य के श्रमिकों को लाभान्वित करने के लिए इनके हित में योजनाओं का ऐलान करती रहती हैं.

SAUR URJA SAHAYTA YOJNA

SAUR URJA SAHAYTA YOJNA

श्रमिक वर्ग समाज का एक ऐसा वर्ग है जिसकी तादाद तो काफी है लेकिन इस वर्ग को अक्सर नजरअंदाज कर दिया जाता है. इनको सुध लेने वाला कोई भी नहीं है. इसी बात का आभास होते ही सरकार ने इस वर्ग के लिए अनेकों योजनाओं को शुरू किया. कोई योजना इनको आर्थिक सहायता देती हैं तो कोई रोज़गार जा वादा. किसी योजना से इनको पक्की छत मिलती है तो किसी से पक्का चूल्हा और कोई योजना इनको देती है उस चूल्हे पर पकाने के लिए अन्न. लेकिन आज भी अधिकतर राज्यों में इन श्रमिकों का जीवन अंधेरे में बीत रहा है. इन श्रमिकों के पास बिजली और बिजली कनेक्शन ना होना इनके जीवन में फैले अंधेरे की वजह है. इस समस्या और अंधेरे को दूर करने के लिए और इन श्रमिकों के जीवन को उज्जवल करने के लिए उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सौर ऊर्जा सहायता योजना शुरू की है. यह योजना उत्तर प्रदेश राज्य के सभी पंजीकृत श्रमिकों के लिए है और इस योजना के अंतर्गत सभी कामगारों की बिजली और प्रकाश से संबंधित समस्याओं का समाधान किया जाएगा. इस योजना के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए लेख को पढ़ना जारी रखें.

क्या है सौर ऊर्जा सहायता योजना

सौर ऊर्जा सहायता योजना का शुभारंभ उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा किया गया है. इस योजना का मुख्य उद्देश्य सूबे के सभी पंजीकृत श्रमिकों के दैनिक जीवन में बिना ऊर्जा और प्रकाश के आने वाली समस्याओं को दूर करना है. इस योजना के माध्यम से इन श्रमिकों की बिजली और प्रकाश की ज़रूरत को पूरा किया जाएगा ताकि इनके घर में उजाला हो सके और इनके बच्चों को भी पढ़ाई करने में कोई समस्या का सामना न करना पड़े. इस योजना के तहत श्रमिकों को मिलने वाली बिजली सौर ऊर्जा यानी SOLAR ENERGY होगी जो कि सूर्य की ऊर्जा से निर्मित होती है. यह आम बिजली के मुताबिक काफी किफायती होती है और पर्यावरण संरक्षण में भी मदद करती है.

कौन होगा इस योजना के लिए पात्र

इस योजना का लाभ पाने के लिए इच्छुक उम्मीदवार का निम्न नियमों और शर्तों को पूरा करना अनिवार्य है:

  1. उम्मीदवार उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना चाहिए.
  2. उम्मीदवार किसी अन्य सोलर या बिजली संबंधित योजना का लाभ ना ले रहा हो.
  3. योजना के लिए पात्र खुद श्रमिक या श्रमिक की पति- पत्नी या माता-पिता हो सकते हैं. इनके अलावा श्रमिक का 21 साल से कम उम्र का बेटा या अविवाहित बेटी भी is योजना के लिए पात्र होंगे.

कैसे कर सकते हैं आवेदन

जो भी योग्य उम्मीदवार इस योजना के हितग्राही बनना चाहते हैं वो इस योजना के लिए ऑनलाइन या ऑफलाइन माध्यम से आवेदन कर सकते हैं. ऑनलाइन आवेदन करने के लिए उम्मीदवार को सबसे पहले इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in पर जाकर इस योजना के लिए उपलब्ध आवेदन पत्र में पूछी गई जानकारियों को भरकर दाखिल करना होगा. साथ ही मांगे गए दस्तावेजों को भी आवेदन पत्र के साथ अपलोड करना होगा.

वही अगर उम्मीदवार ऑफलाइन माध्यम से इस योजना के लिए आवेदन करना चाहते हैं तो उम्मीदवार को अपने नजदीकी श्रम कार्यालय या तहसील और या फिर विकास खंड अधिकारी या तहसील के तहसीलदार के कार्यालय में अपने सौर ऊर्जा सहायता योजना आवेदन फॉर्म को जमा कर सकते हैं. इस फॉर्म के साथ आपको अनिवार्य दस्तावेजों को भी संलग्न करना होगा. यह फॉर्म आपको इस योजना की आधिकारिक वेबसाइट upbocw.in पर ही उपलब्ध मिलेगा.

किन दस्तावेजों की होगी जरूरत

इस योजना के लिए आवेदन करने वाले श्रमिकों को निम्न दस्तावेज अपने आवेदन पत्र के साथ संलग्न करना अनिवार्य होगा:

  • आधार कार्ड
  • श्रमिक कार्ड
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज़ फोटोग्राफ
  • वैध मोबाइल नंबर

उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा शुरू की गई इस योजना से राज्य के सभी कामगारों और श्रमिकों के जीवन में बिजली के बिना फैला अंधेरा दूर होगा और अवसरों का नया प्रकाश प्रज्ज्वलित होगा.

Leave a Comment