Sona sobran Dhoti Saree Yojana: मुफ्त में धोती और साड़ी दे रही सरकार, ऐसे करें आवेदन

Sona sobran Dhoti Saree Yojana: झारखंड सरकार ने अपने राज्य में रहने वाले गरीब लोगों को Sona sobran Dhoti Saree Yojana के तहत सस्ती कीमतों पर साड़ी देने का फैसला किया है. झारखंड में रहने वाले गरीब लोगों को ₹10 में प्रदान की जाएंगी साड़ियां.यह योजना झारखंड सरकार के द्वारा दुमका के राज्यवासियों के लिए शुरू की गई है.

Sona Sobran Dhoti Saree Yojana

Sona sobran Dhoti Saree Yojana

झारखंड सरकार के द्वारा सोना सोबरन धोती साड़ी योजना 2021 शुरू की गई है.हम आपको बता दें कि योजना झारखंड राज्य के दुमका वासियों के लिए शुरू की गई है.इस योजना का शुभारंभ झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी के द्वारा दुमका में किया गया. इस योजना में राज्य के खाद्य एवं आपूर्ति विभाग के माध्यम से गरीब महिलाओं को और पुरुषों को ₹10 में साल में दो बार धोती और साड़ियां प्रदान की जाएंगी. मुख्यमंत्री जी के द्वारा दुमका में अन्य कई योजनाओं का भी शिलान्यास किया गया

 पीडीएस दुकानों के जरिए मिलेंगी सस्ती साड़ियां और धोती.

झारखंड सरकार ने दुमका के लोगों के लिए Sona sobran Dhoti Saree Yojana शुरू की है. इस योजना में दुमका क्षेत्र के गरीब लोगों को साल भर में 2 बार पीडीएस दुकानों के माध्यम से धोती और साड़ी मात्र ₹10 में उपलब्ध कराए जाएंगे सोना सोबरन धोती साड़ी योजना झारखंड राज्य में बीपीएल परिवार के 5800000 लोगों को फायदा पहुंचाएगी. इस योजना में सरकार ने 500 करोड रुपए के बजट का आह्वान भी किया है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने अन्य योजनाओं के लिए भी ₹359200000 के बजट को पारित करने का घोषणा किया है.

ट्विटर के माध्यम से भी दी गई जानकारी.

 झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी ने ट्विटर के माध्यम से भी झारखंड की गरीब जनता के लिए धोती साड़ी योजना के बारे में जानकारी दी.उन्होंने कहा कि 2014 से यह योजना झारखंड में चलाई जा रही है, लेकिन पिछले कुछ सरकारों ने इस योजना को बंद कर दिया था. श्री हेमंत सोरेन जी जब दुमका में योजनाओं के बारे में लोगों को बता रहे थे तो उन्होंने कहा कि आज का दिन एक ऐतिहासिक दिन है,क्योंकि आज के दिन गरीब जनता को धन तन ढकने के लिए फिर से सोबरन Sona sobran Dhoti Saree Yojana शुरू की जा रही है, और साल में दो बार में लोगों को मात्र ₹10 में धोती और साड़ी उपलब्ध कराई जाएगी. जिससे कोई भी व्यक्ति निर्वस्त्र नहीं रहेगा.

 गरीबों के तन ढकने की योजना.

 झारखंड सरकार के मुख्यमंत्री दुमका राज्य में जब भाषण दे रहे थे,तो उन्होंने इस मौके पर कहा कि पिछली सरकारों ने झारखंड के लोगों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है. लेकिन हमने भी महामारी के दौरान विकास योजनाओं के तहत दुबारा से सोना सोबरन धोती साड़ी योजना वितरण कार्यक्रम को शुरू करने का निश्चय किया है. उन्होंने कहा कि झारखंड भारत के अन्य राज्यों से पिछड़ा हुआ राज्य है, तथा यहां के आर्थिक स्थिति बहुत खराब है. सरकार यह कोशिश कर रही है कि राज्य में कोई भी ऐसा व्यक्ति ना रहे जिसके पास पहनने के लिए वस्त्र ना हो और उन्होंने यह कहने के बाद ही सोबरन धोती साड़ी योजना के बारे में जनता के बीच में घोषणा कर दी. उन्होंने कहा कि दुमका में भी रहने वाले लगभग 200000 गरीब परिवारों को इस योजना का लाभ मिलेगा.

 सुख दुख में साथी झारखंड सरकार.

 झारखंड सरकार के द्वारा यह शब्द कहे गए है कि झारखंड सरकार आदिवासियों की और गरीब जनता की सरकार है. यह अपनी जनता के सुख और दुख दोनों में शामिल होना चाहती है. हेमंत सोरेन ने कहा कि वर्तमान में सरकार बहुत सारी नीतियां और नए कानून लेकर आने वाली है, और पिछली सरकारों के द्वारा फैलाए गए भ्रष्टाचार और गलत फैसलों की वजह से जनता को जो मुसीबतें उठानी पड़ी थी, उन्हें पूरी तरह से खत्म कर दिया जाएगा. झारखंड सरकार अपने गरीब जनता के हर सुख दुख में साथ खड़ी है.उन्होंने कहा कि यह साल नौकरी का साल है यानी राज्य सरकार के द्वारा झारखंड के युवाओं के लिए बहुत सारे रोजगार के नए रास्ते खोले जाएंगे.

पिछली सरकारों की विफलता आएं.

मुख्यमंत्री श्री हेमंत सोरेन जी ने दुमका में कहा कि 20 साल तक बाहरी मानसिकता वाले लोगों ने झारखंड सरकार को चलाया और यहां की वास्तविक व्यवस्था को प्रभावित करके मूल वासियों की भावनाओं के साथ खिलवाड़ किया है.इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि पिछली सरकारों ने नौकरियों में गलत नियम बनाकर के बाहरी लोगों को रोजगार देने का काम किया था.लेकिन हमारे सरकार के पहले प्राथमिकता यही रहेगी स्थानीय लोगों को सबसे पहले रोजगार प्रदान किया जाए. इसके अलावा उन्होंने यह भी कहा कि सरकार द्वारा जो भी नीतियां बनाई जाएंगी उसमें 75% स्थाई लोगों के हितों को ध्यान में रखा जाएगा.उन्होंने यह भी कहा कि धोती साड़ी योजना मील का पत्थर साबित होगी.झारखंड सरकार के मंत्री मिथिलेश ठाकुर ने यह कहा कि हेमंत सरकार लोगों को जमीन से जोड़ कर काम करने में विश्वास रखती है, ना कि पिछली सरकारों के किए गए गलत फैसलों को आगे बढ़ाकर झारखंड के लोगों का करने में.

इन्हें भी पढ़ें-

Leave a Comment