State Bank of India Free Gift: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से ग्राहकों को मुफ्त में मिल रहा है, ₹200000 का फायदा जानिए इसके लिए क्या करना होगा.

State Bank of India Free Gift: स्टेट बैंक ऑफ इंडिया यानी भारतीय स्टेट बैंक अपने ग्राहकों को ₹200000 का एक्सीडेंटल इंश्योरेंस मुफ्त में प्रदान कर रहा है. जानिए आपको कैसे मिलेगा यह फायदा और किस तरह मिल सकते है, आपको यह ₹200000 रुपए.

state bank of india free gift

देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अपने ग्राहकों को ₹200000 का मुफ्त एक्सीडेंटल बीमा प्रदान कर रहा है. यह बीमा बिल्कुल मुफ्त प्रदान किया जा रहा है. यह सुविधा जनधन खाता धारकों को मुफ्त प्रदान की जा रही है बैंक की तरफ से जनधन खातों पर रूपए जनधन कार्ड प्रदान किया जाता है. हम आपको बता दें कि इससे जनधन रुपे कार्ड पर ग्राहकों को ₹200000 का मुफ्त इंश्योरेंस प्रदान किया जा रहा है. यदि आपके पास जनधन खाता नहीं है, तो भी आप अपने बेसिक खाते को जनधन खाते में परिवर्तित करवा सकते है.

आप अपने बेसिक अकाउंट को जनधन खाते में कर सकते हैं ट्रांसफर.

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से भारतीय ग्राहकों को यह सुविधा प्रदान की जा रही है.यह सुविधा उन लोगों के लिए भी है जिनके पास जनधन खाते नहीं है. यदि आपके पास जनधन खाता नहीं है, तो आप अपने बेसिक खाते को जनधन खाता में परिवर्तित करवा सकते है. इसके बाद आपको भारतीय स्टेट बैंक के द्वारा दी जाने वाली एक्सीडेंटल इंश्योरेंस पॉलिसी का फायदा प्राप्त हो जाएगा. जिसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की तरफ से दो ₹200000 का इंश्योरेंस जनधन खाता धारकों को प्रदान किया जा रहा है. जिन लोगों ने 28 अगस्त 2018 से पहले अपना खाता खुलवाया था. उन्हें ₹100000 का एक्सीडेंटल इंश्योरेंस मिलता है. इन लोगों को भी अब ₹200000 का इंश्योरेंस प्राप्त होगा वहीं जिन लोगों ने जन धन योजना के तहत 28 अगस्त 2018 के बाद खाते खुलवाए है, उन्हें पूरे ₹200000 का मुफ्त इंश्योरेंस प्राप्त होगा. ध्यान रहे कि यह फायदा सिर्फ उन्हीं ग्राहकों को मिलेगा जिन्होंने रूपए जनधन कार्ड के लिए आवेदन किया होगा.

राज्य से बाहर हुई दुर्घटना भी होगी कवर

भारतीय स्टेट बैंक की इस योजना के तहत यदि किसी व्यक्ति का जनधन खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में है, और इस योजना के तहत उसकी दुर्घटना भारत के अलावा किसी अन्य शहर या देश में हुई है, तो भी आप इंश्योरेंस से संबंधित दस्तावेजों को बैंक में जमा कराकर अपनी बीमा की राशि को क्लेम कर सकते है. योजना का फायदा उठाने के लिए नॉमिनी को एक क्लेम फॉर्म भरना होगा तथा मृतक की मृत्यु का प्रमाण पत्र फार्म के साथ जमा कराना होगा. इसे एक्सीडेंट को लेकर की गई एक कॉपी भी क्लेम फॉर्म के साथ जमा कराना होगा.इसके अलावा मरने वाले व्यक्ति का आधार कार्ड उसका रुपे कार्ड की फोटो कॉपी मृतक के एक्सीडेंट के 90 दिनों के भीतर आपको जमा कराने होंगे तभी आप को इस योजना के तहत बीमा राशि प्राप्त हो पाएगी.

कैसे खुलवाएं जनधन खाता

आप भी भारतीय स्टेट बैंक की इस योजना बीमा का फायदा उठाना चाहते है, तो आपके पास सबसे जरूरी जनधन खाता होना आवश्यक है. यदि आपके पास जनधन खाता नहीं है और आप इस योजना का फायदा उठाना चाहते है, तो आप अपने पास के भारतीय स्टेट बैंक में जाकर आसानी से यह खाता खुलवा सकते है.

जरूरी दस्तावेज

यदि आपके पास जनधन अकाउंट नहीं है, और आप अपना जनधन अकाउंट खुलवाना चाहते है. आप इसके लिए अब नहीं नजदीकी किसी भी भारतीय स्टेट बैंक में जाएं जहां पर आपको अकाउंट ओपन कराने के लिए एक फार्म भरना होगा.इस फॉर्म में आवेदक का नाम, मोबाइल नंबर, बैंक ब्रांच का नाम आवेदक का पता, नॉमिनी व्यवसाय रोजगार और सालाना आय समेत आश्रितों की संख्या का विवरण देना होगा. इसके बाद आपको एक एस एस सी कोड वार्ड नंबर विलेज कोरियर टाउन कोड की भी जानकारी देनी होगी. इसके साथ ही एक्सीडेंटल इंश्योरेंस कवर का फायदा प्राप्त करने के लिए अकाउंट खुलवाने के बाद आपको जनधन रुपे कार्ड के लिए भी आवेदन कर देना चाहिए.

कब हुई थी जन धन योजना की शुरुआत

जनधन खाता‌ भारतीय नागरिकों के लिए एक महत्वकांक्षी योजना थी. इस योजना को भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के द्वारा शुरू किया गया था इस योजना की शुरुआत आज से 7 साल पहले हुई थी.इन 7 सालों में अब तक भारत में लगभग 43 करोड़ से भी अधिक लोगों ने प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत अपने बैंक अकाउंट खुलवाए थे. प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने अगस्त 2014 को देश में करोड़ों लोगों को बैंकिंग सिस्टम से जोड़ने के लिए प्रधानमंत्री जनधन योजना की शुरुआत की थी.वित्त मंत्रालय ने इसे फाइनेंसियल इंक्लूजन और समाज से अलग रह रहे तबके को आर्थिक रूप से उन्नत बनाने के लिए शुरू किया था.

सरकार का मानना है कि जनधन खातों की मदद से देश में रहने वाले कमजोर वर्ग के लोगों को भी मुख्यधारा से जोड़ा जा सकेगा तथा इन्हें आर्थिक रूप से सशक्त बनाया जा सकता है. प्रधानमंत्री जनधन योजना की वजह से गरीब लोग भी अब बैंकिंग प्रणाली के तहत अपने पैसों को सेव करके रख सकेंगे. जिससे उन्हें अतिरिक्त ब्याज के साथ आमदनी प्राप्त होगी. इसके अलावा जो मजदूर घर से बाहर रहकर अपने परिवार के लिए पैसा भेजते थे उन्हें भी जन धन योजना के तहत एक विकल्प प्राप्त हो गया है. जिसके माध्यम से वह अपने परिवार को समय पर दे पैसे भेज सकते है. इसके अलावा समाज से वंचित लोगों को सूदखोरों से बचाने के लिए भी पीएम जन धन योजना की शुरुआत की गई थी.

यह भी जाने :

Leave a Comment