UPSSSC VACANCY: 9 हजार से अधिक पदों पर बम्पर भर्तियाँ, ऐसे करें आवेदन

UPSSSC VACANCY; उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग स्वास्थ्य कार्यकर्ता महिला पदों के लिए लगभग 9212 आवेदन मंजूर किए जाएंगे. वैकेंसी के तहत जल्द ही मुख्य परीक्षा आयोजित की जाएगी. हम आपको बता दें कि सरकार के द्वारा इसका पाठ्यक्रम और परीक्षा की योजना मंजूर की जा चुकी है.

upssc vacancy
upssc vacancy

उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा समूह के पदों पर भर्तियां निकाली गई है. समूह ग के पदों पर प्रारंभिक स्तर परीक्षा का रिजल्ट घोषित करने के बाद, उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग इन पदों के चयन के लिए मुख्य परीक्षा की तैयारी में लगा हुआ है.हम आपको बता दें कि आयोग महानिदेशक परिवार कल्याण के द्वारा  महिला स्वास्थ्य कर्मी के पदों के लिए 9212 वैकेंसी निकाली गई है. सरकार जल्द ही इस परीक्षा से जुड़ी तिथियों को घोषित करने वाली है.

 क्या है यूपी एसएससी महिला स्वास्थ्य कर्मी भर्ती.

 उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा मंगलवार 9 नवंबर 2021 को एक नोटिफिकेशन जारी किया गया था. इस नोटिफिकेशन के अनुसार महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता के रिक्त पदों के लिए भर्ती निकाली गई है. जिसमें लगभग 9000 पद खाली पड़े है. इन पदों को भरने के लिए सरकार के द्वारा मुख्य परीक्षा आयोजित की जाएगी हम आपको बता दें कि इस परीक्षा के लिए सरकार के द्वारा एक पाठ्यक्रम भी निर्धारित किया गया है. इस पाठ्यक्रम के अनुसार ही मुख्य परीक्षा आयोजित की जाएगी इस परीक्षा मैं लगभग सा विकल्प पूछे जाएंगे. प्रश्न वस्तुनिष्ठ और बहुविकल्पीय दोनों प्रकार के होंगे. हर प्रश्न के लिए एक अंक दिया जाएगा.परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग भी हो सकती है. किसी भी प्रश्न का गलत उत्तर देने पर आपके सही उत्तर में से एक चौथाई अंक काट लिया जाएगा. परीक्षा के अवधि 2 घंटे होगी. उत्तर प्रदेश में हेल्थ वर्कर भर्ती के लिए टीईटी 2021 में भाग लेने वाले आवेदन कर्ताओं को upssc.gov.in पर परीक्षा के बारे में और अधिक जानकारी प्राप्त हो जाएगी, तथा इसी वेबसाइट पर आप पाठ्यक्रम भी देख सकते है.

 महिला स्वास्थ्य कार्यकर्ता वैकेंसी.

 उत्तर प्रदेश में महिला स्वास्थ्य कर्मियों की कमी को नकारा नहीं जा सकता है. महिला स्वास्थ्य कर्मी स्वास्थ्य सेवाओं में अपनी एक अहम भूमिका निभाती है. अता उत्तर प्रदेश सरकार के द्वारा महिलाओं की भागीदारी को सुनिश्चित करने के लिए 9212 पदों पर भर्तियां निकाली गई है. यह भर्तियां उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के द्वारा निकाली गई है. हम आपको बता दें कि इन पदों के तहत आवेदन करने वाले अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा देनी होगी. जिसका पाठ्यक्रम सेवा चयन आयोग के द्वारा निर्धारित किया गया है. पाठ्यक्रम की तिथि और जाने के लिए आपको उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की ऑफिशियल वेबसाइट पर जाना होगा.

 क्या है पाठ्यक्रम विषय ज्ञान.

उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के द्वारा महिला स्वास्थ्य कर्मी भर्ती के लिए पाठ्यक्रम निर्धारित किया गया है. हम आपको बताते है कि आप इस भर्ती के तहत कौन से पाठ्यक्रम को अध्ययन कर सकते है.इस पाठ्यक्रम में स्वास्थ्य के निर्धारक तत्व भारतीय स्वास्थ्य, समस्याओं का बाह्य रूप एवं योजनाएं, एसएससी, पीएचसी, सीएमसी और जिला अस्पताल का संगठन स्वास्थ्य संस्थाएं, अंतरराष्ट्रीय डब्ल्यू एच ओ, यू एन ए, यूएनडीपी, विश्व बैंक ने यूरोपीय और अमेरिकी सहायता,यूनेस्को के बारे में पूछा जाएगा. इसके अलावा कोलंबो प्लान, राष्ट्रीय इंडियन काउंसिल फॉर चाइल्ड वेलफेयर एसोसिएशन ऑफ इंडिया, इत्यादि के बारे में आपसे पूछा जाएगा.

इसके अलावा पाठ्यक्रम में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं के कार्य और दायित्व,एएनएम के लिए आचार संहिता, समुदाय में लोगों को सलाह देने में स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं की भूमिका, स्वास्थ्य के लिए पोषण की आवश्यकता पोषण एवं बीमारी का आपसी संबंध, खाद्य पदार्थों का पोषण के आधार पर वर्गीकरण, विभिन्न आयु वर्ग के लिए संतुलित आहार,विटामिन और खनिज की कमी से होने वाले रोग और महिलाओं में पोषण जनित रक्त अल्पता,5 वर्ष तक के बच्चों का पोषण पोषण में एएनएम आंगनबाड़ी कार्यकर्ता की भूमिका, मानव शरीर की संरचना और उनके शरीर की स्वच्छता, मानसिक स्वास्थ्य की अवधारणा संक्रामक रोगों के नियंत्रण रोकथाम के लिए सामान्य उपाय, संक्रमण रोग के लक्षण और उपचार या काली खासी पोलियो खसरा और रूबेला मलेरिया

डेंगू फाइलेरिया ट्रेकोमा नेत्र संबंधी परेशानी एसटीडी और एचआईवी लेप्टोसिरोसिस इतिहास लेना शारीरिक परीक्षण महत्वपूर्ण लक्षण महत्वपूर्ण संकेत तापमान स्वास्थ्य में आयुष की भूमिका घरेलू उपचार चिकित्सा की आवश्यकता सामान्य और बड़ी बीमारियां सिद्धांत और प्राथमिक चिकित्सा देखभाल शिशुओं और बच्चों में वृद्धि और विकास को प्रभावित करने वाले कारक बच्चों का शारीरिक मनोवैज्ञानिक और सामाजिक विकास दुर्घटनाएं कारण सावधानियां और रोकथाम विशेष स्तनपान विद्यालय स्वास्थ्य समस्या कार्यक्रम एवं विद्यालय का वातावरण किशोरों के लिए यौन शिक्षा और उसके द्वारा स्वच्छता किशोरावस्था में गर्भधारण और गर्भपात से संबंधित जानकारियां और गर्भावस्था गर्भावस्था के और लक्षण सामान्य प्रसव के दौरान देखभाल नवजात की देखभाल गर्भावस्था के असमानताआे गर्भपात गर्भपात के प्रकार और कारण इत्यादि पाठ्यक्रम का हिस्सा है.

इन्हें भी जानिए

Leave a Comment