यश ढुल बायोग्राफी: Yash Dhul Biography | Family | Age | IPL Team

Yash Dhull Biography: क्रिकेट के प्रति दीवानगी का ना कोई पैमाना होता है और ना कोई उम्र। क्रिकेट देखने से लेकर क्रिकेट खेलने वालों में आपको हर उम्र वर्ग का इंसान मिल जाएगा। जब हम क्रिक्रेट की बात करते हैं तो हमारे सामने SACHIN TENDULKAR, MS DHONI, VIRENDRA SEHWAG, YUVRAJ SINGH, VIRAT KOHLI, KL RAHUL इत्यादि जैसे कई दिग्गज खिलाड़ियों की तस्वीर आती है लेकिन इन तस्वीरों के पीछे छुप जाते हैं उस होनहार छवि वाले कम उम्र के खिलाड़ी जो विश्व में आज क्रिकेट के दम पर अपनी एक अलग पहचान बना रहें हैं।

Yash Dhul Biography : Family | Age | IPL Team

Yash Dhul Biography

दोस्तों, आज अपने इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं एक ऐसे ही क्रिकेटर के बारे में जिसने बहुत कम उम्र में अपनी मेहनत के दम क्रिकेट की दुनिया अपना नाम रोशन कर दिया है। आज हम किसी और की नहीं बल्कि ICC UNDER 19 में भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी करने वाले यश ढुल के बारे में और जानेंगे उनको ज़िन्दगी के कुछ अनसुने पहलुओं के बारे में।

Yash Dhul Biography

क्रिकटर यश ढुल का अब तक का सफर काफी संघर्षों से भरा रहा है। लेकिन परिवार के साथ और समर्थन की वजह से यश ने ज़िन्दगी की और से फेंकी गई हर बाउंसर पर चौके छक्के जड़े हैं। यश भी अपनी इस सफलता के पीछे का श्रेय अपने परिवार को देते हैं। यश को अपने परिवार का पूरा साथ मिला जिसकी वजह से वह ज़िन्दगी में हमेशा अपने लक्ष्य के प्रति केंद्रित रहें।

Cricketer Yash Dhull’s journey so far has been full of struggles. But with family and support, Yash dhull has hit fours and sixes on every bouncer thrown by him in life. Yash also gives the credit behind this success to his family. Yash dhull got the full support of his family, due to which he should always be focused towards his goal in life.

Yash Dhul Biography: Family, Age, Team, Stats, School, Father, Birth place stats

यश ढुल का जन्म 11 नवंबर 2002 को दिल्ली के जनकपुरी इलाके में हुआ। यश की स्कूली शिक्षा दिल्ली के ही बाल भवन स्कूल अकादमी से हुई है। बेहद सरल और एक मध्यमवर्गीय में जन्में यश के परिवार में उनके अलावा उनके माता-पिता, एक बहन और दादा हैं। यश के पिताजी का नाम विजय ढुल है और वह एक कॉस्मेटिक कंपनी में सेल्समैन के पद पर काम करते हैं। यश की माताजी श्रीमती नीलम ढुल गृहणी हैं। यश के दादा भारतीय सेना में अपनी सेवा दे चुके हैं और अब रिटायर हो चुके हैं। यश को बचपन से ही क्रिकेट में काफी दिलचस्पी थी। यश के परिवार ने उनकी इस लग्न को पहचान लिया और यश को क्रिकेटर बनने के लिए प्रोत्साहित किया।

Yash Dhul Biography wikipedia

दरअसल यश की पिताजी बताते हैं कि यश में एक कुशल क्रिकेटर के गुण सबसे पहले यश को माताजी को नजर आए थे। जब यश मात्र चार साल के थे, तब पहली बार यश की मां ने क्रिकेट के प्रति उनकी रुचि को पहचाना। उन्होंने यश की गेंद के प्रति समझ को देखा था। इसके बाद यश की माता जी ने यह बात परिवार के अन्य सदस्यों को बताई जिसके बाद परिवार को यह पता लगा को यश को एक बेहतरीन क्रिकेट का खिलाड़ी बनाया जा सकता है। यश के पिता ने खुद ही यश को कई कई घंटों तक अपने घर की छत पर क्रिकेट खेलने की प्रैक्टिस करवाई है। वहीं जब यश ने क्रिकेट की पिच पर पहला कदम रखा था तब के उनके कोच का नाम प्रदीप कोच्चर और राजेश नागर है।

यश ढुल को क्रिकेटर बनाने में सबसे एहम भूमिका यश ढुल के पिताजी एवं दादाजी की है। यश को क्रिकेटर बनाने के लिए उनके पिताजी ने अपनी नौकरी तक छोड़ दी थी और काफी समय उनके घर का खर्च उनके दादाजी की पेंशन पर चलता था। यश के परिवार ने उन्हें कभी किसी भी चीज की कमी नहीं होने दी और यही वजह है कि आज इस स्तर पर पहुंच गए हैं जहां उन्हें देश के साथ साथ दुनिया भी जानती है। यश ढुल एक दाहिने हाथ के बल्लेबाज हैं।

Yash Dhul Biography india u-19

यश ने 12 साल की उम्र में ही दिल्ली क्रिक्रेट टीम का नेतृत्व करते हुए अंडर-14 में खेला। उसके बाद उन्होंने अंडर-16 के लिए दिल्ली की टीम का नेतृत्व करना शुरू किया और अब यश को अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिए भारतीय टीम के कप्तान बनाया गया है। वर्ष 2022 के अंडर-19 वर्ल्ड कप इस बार वेस्ट इंडीज की मेजबानी में आयोजित हो रहा है। साथ ही यश ने DDCA के लिए पांच मैचों में लगभग 302 रन बनाए थे। यश ढुल विनू मांकड ट्रॉफी में भी अपना शत प्रतिशत देकर सर्वाधिक रन बनाने वाले खिलाड़ी हैं। यश ने डीडीसीए के लिए खेलकर पांच मैचों में औसत 75.50 से लगभग 302 रन बनाए थे।

Yash Dhull IPL

यश धुल वर्तमान में अंडर 19 टीम के कप्तान है. उन्होंने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सेमीफाइनल में धुआंधार शतक जमाया.इस साल उन्होंने आईपीएल में भी नामांकन किया है. ऑक्शन के दौरान वह अच्छा खासा पैसा कमा सकते है. टाइम्स ऑफ इंडिया के साथ एक साक्षात्कार के दौरान यश कहते हैं कि वह किसी भी खिलाड़ी की नकल नहीं करते हैं बल्कि हर खिलाड़ी से कुछ ना कुछ सीखने की कोशिश ज़रूर करते हैं। यश अपने क्रिकेटर बनने के पीछे का श्रेय अपने परिवार के त्याग और संघर्ष को देते हैं।

Leave a Comment